Computer Kya Hai 2024 | कंप्यूटर क्या है, प्रकार, विशेषताएं (संपूर्ण जानकारी) 

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Computer Kya Hai – कंप्यूटर एक ऐसा इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है, जिसके जरिए हम किसी भी तरह के बड़े से बड़े मैथमेटिकल कैलकुलेशन को आसानी से समाधान कर सकते है। 

कंप्यूटर किसी भी तरह के कैलकुलेशन को करने के साथ साथ डाटा को भी प्रोसेस कर सकता है। यदि आप Computer Kya Hai के बारे नहीं जानते है, तब ये पोस्ट आप सभी के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होने वाला है। 

कंप्यूटर एक ऐसा इलेक्ट्रानिक डिवाइस है जिसके जरिए हम क्या कुछ नहीं कर सकते है, चाहे कोई सॉफ्टवेयर तैयार करना हो, किसी प्रश्न का उत्तर ढूंढना हो या किसी जटिल गणना को हल ही क्यूं ना करना हो सभी काम हम कंप्यूटर के माध्यम से आसानी से कर सकते है। 

यदि आप Computer Kya Hai के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो इस पोस्ट को अंत तक पढ़े। इस पोस्ट पर हमने कंप्यूटर क्या है, कंप्यूटर कितने प्रकार के होते है, कंप्यूटर की विशेषताएं के बारे में अच्छे से बताया है। चलिए Computer Kya Hai के बारे में अच्छे से जानकारी प्राप्त करते है। 

Computer Kya Hai
पोस्ट मुख्य हैडलाइन👉 दिखाये

कंप्यूटर क्या है – (Computer Kya Hai) 

कंप्यूटर आज के समय में सभी के बीच काफी महत्वपूर्ण भूमिका पालन कर रहा है। क्या आप Computer Kya Hai In Hindi के बारे में जानते है, यदि नहीं तो बता दे की कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है, जिसका नाम Compute शब्द से लिया गया है। 

कंप्यूटर कई सारे इलेक्ट्रॉनिक कंपोटेंट्स से बना हुआ होता है। कंप्यूटर के माध्यम से हम काफी जल्दी किसी भी तरह के मैथमेटिकल कैलकुलेशन को आसानी से समाधान कर सकते है, साथ ही कंप्यूटर किसी भी डाटा को भी आसानी से प्रोसेस कर सकता है। 

कंप्यूटर का इस्तेमाल कई कार्य का समाधान करने के लिए किया जाता है, जैसे लेखन, गणना, डेटा संग्रहण, डेटा विश्लेषण, डेटा प्रस्तुति, गेम खेलना, इंटरनेट ब्राउज़ करना आदि। हिंदी में कंप्यूटर का मतलब संगणक, गणक यंत्र है। आज के समय में ऐसा कोई भी कार्य नहीं है जिसमे कंप्यूटर का इस्तेमाल ना होता हो। 

कंप्यूटर की परिभाषा – Meaning of Computer in Hindi

कंप्यूटर का मतलब एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है, जो हमारे द्वारा दिए गए इनपुट को प्रोसेस करके उसका आउटपुट हमें प्रदर्शन करता है। कंप्यूटर के दो मुख्य भाग होते है एक Hardware और दूसरा Software है। 

हार्डवेयर (Hardware) कंप्यूटर का फिजिकल कंपोटेंट होता है जैसे CPU, Monitor, Keyboard, Mouse आदि। वहीं दूसरी तरफ सॉफ्टवेयर मतलब कंप्यूटर की ऑपरेटिंग सिस्टम, सिस्टम एप्लीकेशन आदि। 

कंप्यूटर का पूरा नाम क्या है – Computer Full Form 

“Computer” शब्द का भी फुल फॉर्म है, यदि आप कंप्यूटर का पूरा नाम क्या है इसके बारे में नहीं जानते है, तो बाते दे की कंप्यूटर का फुल फॉर्म है – 

C – Commonly

O – Operated

M – Machine

P – Particularly

U – Used for

T – Technical and

E – Educational

R – Research

कंप्यूटर का इतिहास (History Of Computer In Hindi) 

आज के समय में हम जो कंप्यूटर या लैपटॉप इस्तेमाल करते हैं वह आकार में काफी छोटा होता है लेकिन यदि कंप्यूटर के इतिहास के बारे में बात की जाए तो आज से काफी साल पहले कंप्यूटर का आकार काफी बड़ा हुआ करता था। 

पहले कंप्यूटर का आकार इतना ज्यादा बड़ा होता था कि यह एक घर के समान होता था, तब उस समय में कंप्यूटर का इस्तेमाल करने के लिए 3 से 4 लोगों की जरूरत पढ़ता था। लेकिन जैसे जैसे टेक्नोलॉजी का विकास हुआ इस तरह कंप्यूटर का आकार भी छोटा होता चला गया। 

कंप्यूटर के इतिहास को देखा जाए तो ये काफी बड़ा है, आज से काफी साल पहले 19वीं शताब्दी के वक्त पहला कंप्यूटर अविष्कार हुआ था जिसे एनालॉग कंप्यूटर कहा जाता था| एनालॉग कंप्यूटर एक ऐसा कंप्यूटर है जो भौतिक मात्राओं जैसे तापमान, दवाब को मापने और गणना करने के लिए बनाया गया था।  

19वीं शताब्दी के बाद 20वीं शताब्दी में डिजिटल कंप्यूटर का विकास हुआ था, डिजिटल कंप्यूटर संख्याओं को अंक के रूप में संग्रहीत करता है और उसे गणना करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। डिजिटल कंप्यूटर एनालॉग कंप्यूटर के तुलना में ज्यादा एक्यूरेट यानी सटीक होते है और ये डिजिटल कंप्यूटर जटिल से जटिल गणित को समाधान कर सकता है।

सबसे पहला डिजिटल कंप्यूटर ENIAC था, जिस 1946 में अविष्कार किया गया था। ENIAC कंप्यूटर का आकार बहुत ही बड़ा था यह कंप्यूटर तब के समय में 18000 वैक्यूम ट्यूब से बनी थी और यदि इस कंप्यूटर के वजन की बात की जाए तो इस कंप्यूटर की वजन करीब 30 टन से भी ज्यादा था। फिर उसके बाद 1970 में पर्सनल कंप्यूटर का विकास हुआ तब से कंप्यूटर का विकास होता ही जा रहा है। 

यदि आप भारत के कंप्यूटर के इतिहास के बारे में जानने में इच्छुक है तो आपको बता दे कि भारत में पहली बार कंप्यूटर पश्चिम बंगाल के कोलकाता में 1952 को भारतीय विज्ञान संस्थान में Dwijish Dutta के माध्यम से लगाया गया था, जो की एक एनालॉग कंप्यूटर था फिर उसके बाद बेंगलुरु शहर में भी भारतीय विज्ञान संस्थान में कंप्यूटर लगाया गया था। 

कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था?

यदि आप कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था के बारे में नहीं जानते तो बता दे की कंप्यूटर का अविष्कार चार्ल्स बैबेज द्वारा किया गया था। 

आपके जानकारी के लिए बता दे कि आधुनिक कंप्यूटर का जनक Charles Babbage को कहा जाता है, क्यूंकि उन्होंने ही पहले Analytical Engine को 1837 में बनाया था और उसी के आधार पर ही आज के समय का कंप्यूटर बनाया जाता है। 

कंप्यूटर कैसे काम करता है?

Computer Kya Hai इसके बारे में तो आप जान गए होंगे अब यदि कंप्यूटर कैसे काम करता है के बारे में जानना चाहते है तो बता दे की कंप्यूटर सबसे पहले Input Device यानी Keyboard, Mouse के जरिए हमारे द्वारा दिए गए Input को प्राप्त करते है उसके बाद उस डाटा को CPU में भेजा जाता है जो डाटा को Binary Code में बदलता है क्योंकि कंप्यूटर Binary Code को ही समझता है। 

हमारे द्वारा दिए गए Input Data यानी टास्क को CPU Binary Code में Convert यानी बदलने के बाद कंप्यूटर हमारे द्वारा दिए गए Input Data को Process करते है जो की बहुत ही कम समय में होता है फिर उसके बाद कंप्यूटर उस प्रोसेस किए गए आउटपुट डाटा को Output Device जैसे की Monitor या Printer के जरिए प्रदर्शित करता है। 

कंप्यूटर की विशेषताएँ (Feature of Computer In Hindi)

कंप्यूटर के विशेषताएं की बात की जाए तो कंप्यूटर के कई सारे विशेषताएं हैं। यदि कंप्यूटर के विशेषताएं की बात करें तो वह है – 

  • कंप्यूटर किसी भी तरह के गणना को समाधान करने में सक्षम है। 
  • जिस तरह के गणना को इंसान समाधान नहीं कर सकते हैं उस तरह के गणना को कंप्यूटर काफी आसानी से समाधान कर सकते हैं।
  •  कंप्यूटर एक ही वक्त पर कई सारे कार्य का समाधान कर सकता है। 
  • किसी भी तरह के प्रश्न का उत्तर हम कंप्यूटर के जरिए आसानी से प्राप्त कर सकते हैं और कंप्यूटर हमें सही जानकारी प्रदान करता है।  
  • कंप्यूटर के इंटरनल और एक्सटर्नल स्टोरेज पर हम कई सारे डेटा को एक साथ स्टोर करके रख सकते हैं। 
  • बिजनेस के हिसाब किताब को करने के लिए भी हम कंप्यूटर का इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि कंप्यूटर हमें सटीक हिसाब करने में मदद करता है।
  • आज के समय में हम कंप्यूटर का इस्तेमाल करके पैसे कमा सकते हैं। 
  • कंप्यूटर का इस्तेमाल केवल गणना और किसी प्रश्न का उत्तर प्राप्त करने के लिए ही नहीं बल्कि एंटरटेनमेंट के लिए भी किया जा सकता है। 

Computer के प्रकार (Types Of Computer In Hindi)

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो किसी भी तरह के गणना का समाधान करने में मदद करता है। कंप्यूटर के प्रकार की बात की जाए तो कंप्यूटर कई प्रकार के होते हैं तथा – 

1) SuperComputer – 

Computer Kya Hai

सुपरकंप्यूटर एक ऐसा कंप्यूटर है, जो दिखने में काफी बढ़ा होता है और साथ ही इस प्रकार के कंप्यूटर का कीमत भी काफी ज्यादा होता है। सुपरकंप्यूटर एक प्रकार का ऐसा कंप्यूटर है जो एक साथ हजारों से भी ज्यादा गणना को आसानी से और कम समय में समाधान कर सकता है। यह कंप्यूटर किसी भी तरह के गणना का एक दम सही और एक्यूरेट समाधान निकालता था। 

उदाहरण – IBM Blue Gene, Cray XC50, Sunway TaihuLight आदि 

2) Mainframe computer – 

Computer Kya Hai

मेनफ्रेम कंप्यूटर भी आकार में काफी बड़ा होता है। यह कंप्यूटर कार्य के अनुसार काफी शक्तिशाली है और यह कंप्यूटर माइक्रो या मिनी कंप्यूटर से काफी ज्यादा शक्तिशाली होते है। 

उदाहरण – IBM z15, Fujitsu GS21, Unisys ClearPath

3) Mini Computer

Computer Kya Hai

 मिनी कंप्यूटर का आकार काफी छोटा होता है जैसा कि इसके नाम से ही पता चलता है। इस कंप्यूटर का इस्तेमाल कई सारे यूजर एक साथ कर सकते है। इसे 200 से भी ज्यादा लोग इस्तेमाल कर सकते है इसका स्टोरेज भी काफी ज्यादा है।

उदाहरण – HP 3000, DEC PDP-11, IBM System/3

4) Microcomputer – 

Computer Kya Hai

यह एक प्रकार का ऐसा कंप्यूटर हैं, जो आकार में छोटा होता है और इसका कीमत भी उतना ज्यादा नहीं होता है। इस प्रकार के कंप्यूटर को 1 या 2 लोग इस्तेमाल कर सकते है। इस प्रकार के कंप्यूटर में भी हम कई काम एक साथ कर सकते है। 

उदाहरण – Desktop, Personal Computer, Laptop, Tablet 

5) Desktop – यह उस प्रकार का कंप्यूटर है, जिसे लोग आपने घर में इस्तेमाल करते है। Desktop Computer को Personal Computer भी कहा जाता है क्यूंकि निजी काम को करने के लिए इस तरह के कंप्यूटर का इस्तेमाल किया है।  

इस तरह के कंप्यूटर के जरिए भी हम कई कार्य काफी आसानी से समाधान कर सकते है, साथ ही कंप्यूटर में हम डाटा को स्टोर करके भी रख सकते है। 

इस कंप्यूटर का डिजाइन काफी Compact होता है इसीलिए इसे Desk यानी टेबल ले ऊपर आसानी से रखा जाता है इसीलिए भी इस कंप्यूटर को Desktop Computer कहां जाता है। 

Desktop Computer या Personal Computer के कई भाग होते है जैसे CPU, Monitor, Keyboard, Mouse, Printer आदि। इस तरह के कंप्यूटर का इस्तेमाल घर से लेकर के स्कूल, कॉलेज, ऑफिस में भी किया जीता है। 

6) Laptop – आज के वक्त में हर कोई लैपटॉप के बारे में जरूर से जानते होंगे। Laptop आकार में काफी छोटा और Compact होता है। और साथ ही Laptop Battery Powered होता है। 

Laptop में हमें Computer की तरह अलग से CPU, Monitor, Keyboard, Mouse देखने को नहीं मिलते है, बल्कि लैपटॉप में सीपीयू, मॉनिटर, कीबोर्ड, माउस एक साथ जुड़ा हुआ रहता है। 

लैपटॉप आकार में काफी छोटा होता है, जिस कारण हम लैपटॉप को कहीं पर भी आसानी से ले जा सकते है, और इसका वज़न (Weight) भी बहुत कम होता है। कंप्यूटर में जो भी कार्य होते है सभी को हम लैपटॉप से आसानी से कर सकते है।

7) Tablet – Tablet को Tab भी कहां जाता है, यह आकार में लैपटॉप से भी छोटा होता है और इसमें कोई भी Keyboard या Mouse नहीं होता है इसे हम हाथ में पकड़ कर टचस्क्रीन के जरिए इस्तेमाल कर सकते है। 

टैबलेट आकार में छोटा जरूर होता है लेकिन इसके जरिए भी हम लैपटॉप के कई सारे कार्य को कर सकते हैं साथ ही इसमें कैमरा होता है जिसके मदद से हम फोटो भी खींच सकते हैं और वीडियो कॉल में बात भी कर सकते हैं। 

कंप्यूटर का उपयोग 

कंप्यूटर का कई सारे उपयोग है, लगभग आज के समय में हर क्षेत्र में कंप्यूटर का उपयोग किया जा रहा है। यदि कंप्यूटर के उपयोग के बारे में बताएं तो वह है – 

स्कूल, कॉलेज, यूनिवर्सिटी में कंप्यूटर का उपयोग

कंप्यूटर का उपयोग सभी जगह किए जाते है, ऐसा कोई भी जगह नहीं है जहां आज के समय में कंप्यूटर का इस्तेमाल नहीं किया जाता हो। 

स्कूल कॉलेज यूनिवर्सिटी में भी कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जाता है। कंप्यूटर के जरिए हम हमारे पढ़ाई को और भी ज्यादा अच्छे से समझ सकते है साथ ही हम जटिल प्रश्न का समाधान करने के लिए कंप्यूटर का इस्तेमाल कर सकते है।

सिर्फ पढ़ाई के लिए ही नहीं बल्कि स्कूल, कॉलेज, यूनिवर्सिटी में स्टूडेंट के डाटा को स्टोर करके रखने के लिए भी कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जाता है।

चिकित्सा क्षेत्र में कंप्यूटर का उपयोग

कंप्यूटर का इस्तेमाल चिकित्सा क्षेत्र में भी किया जाता है। कंप्यूटर के जरिए डॉक्टर मरीजों के डाटा को काफ़ी अच्छे से एनालिसिस कर सकते है साथ ही कंप्यूटर का डाटा एक्यूरेट होता है इसीलिए इसके जरिए मरीज का चिकित्सा अच्छे तरीके से किया जाता है। कंप्यूटर के जरिए चिकित्सा क्षेत्र के कई कठिन कामों को आसान किया गया है। 

व्यापार में कंप्यूटर का उपयोग

बिजनेस में भी कंप्यूटर का उपयोग किया जाता है कंप्यूटर के जरिए व्यापारी अपने बिजनेस के सभी डाटा को स्टोर करके रख सकते हैं। सिर्फ डाटा को स्टोर ही नहीं बल्कि व्यापारी कंप्यूटर के जरिए अपने बिजनेस के सभी ट्रांजैक्शन का हिसाब भी कंप्यूटर के जरिए आसानी से कर सकते हैं।

Government (सरकार) में कंप्यूटर का उपयोग

ताकि हमारे देश में जल्द से जल्द विकास हो इसके लिए सरकार भी Research के लिए कंप्यूटर का इस्तेमाल करते है। और क्यूंकि अभी सभी चीजे डिजिटल हो रहा है इसीलिए आज सरकार के द्वारा की जा रहे सभी काम कंप्यूटर के जरिए आसानी से किया जा सकता है। 

कंप्यूटर के भाग (Parts Of Computer In Hindi) 

कंप्यूटर के कई सारे भाग है, जिसके बारे में आपको जानना काफी ज्यादा जरूरी है। यदि Computer के महत्वपूर्ण भाग के बारे में बताएं तो वह कुछ इस प्रकार है जैसे – 

Processor – Processor को कंप्यूटर का दिमाग (Brain) भी कहां जाता है, क्यूंकि Processor के सहायता से कंप्यूटर हमारे द्वारा दिए गए सभी Input को प्रोसेस करने में मदद करते है। बिना प्रोसेसर के आप कंप्यूटर में कोई भी कार्य नहीं कर सकते है क्योंकि प्रोसेसर कंप्यूटर का मुख्य हिस्सा है।  

Motherboard – प्रोसेसर की तरह Motherboard भी कंप्यूटर का एक मुख्य हिस्सा है, जिसके बिना हम कंप्यूटर को चला भी नहीं सकते है। Motherboard ही कंप्यूटर के सारे Connectors को जोड़ता है। 

कंप्यूटर के Motherboard में ही Processor, PSU यानी Power Supply Unit, RAM, Cable’s, Keyboard, Mouse आदि को जोड़ा जाता है। Motherboard के बिना कंप्यूटर का कोई काम ही नहीं है।

RAM – RAM का पूरा नाम Random Access Memory है, RAM Computer का Temporary स्टोरेज होता है। 

जब भी कंप्यूटर में कोई कैलकुलेशन करना होता है तो उसे RAM में स्टोर किया जाता है जो की Short Term के लिए रहता है। 

कंप्यूटर बंद होने के बाद RAM में स्टोर सभी Data Erase यानी मिट जाते है। कंप्यूटर में RAM को MB (Megabyte) और GB (Gigabytes) के माप में मापा जाता है। 

Hard Drive – हार्ड ड्राइव कंप्यूटर का वह हिस्सा है, जो कंप्यूटर के जरूरी फाइल्स, एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को स्टोर करके रखने में मदद करता है। हार्ड ड्राइव में कंप्यूटर के सभी डाटा को स्टोर करके रखा जाता है। 

Power Supply Unit – पावर सप्लाई यूनिट भी कंप्यूटर का एक बहुत ही मुख्य हिस्सा है, जो कंप्यूटर को एलिट्रिक पावर देने में मदद करता है। क्यूंकि बिना Power Supply के हम कंप्यूटर को चला भी नहीं सकते है। 

Input Device – कंप्यूटर में Mouse, Keyboard एक Input Device है। हम Keyboard और Mouse के जरिए कंप्यूटर को टास्क यानी Input देते है, इसीलिए Keyboard और Mouse को इनपुट डिवाइस कहां जाया है। हम Keyboard और Mouse के बिना कंप्यूटर को टास्क नहीं दे सकते है। 

Output Device – Output Device हमारे द्वारा दिए गए Input को प्रदर्शित करता है। जैसे मन लीजिए की Input Device जैसे Keyboard, Mouse के जरिए हमने कंप्यूटर को कोई Input दिया है और उस Input का Output कंप्यूटर Monitor के जरिए यूजर को दिखा रहा है तो इसका मतलब ये है कि Monitor एक Output Device है। सिर्फ Monitor ही नहीं बल्कि Printer, Speaker भी Output डिवाइस का उदाहरण है। 

भारत के सुपर कंप्यूटर 

भारत में भी कई Supercomputer बने है, यदि भारत में बने सुपर कंप्यूटर के बारे में आप नहीं जानते तो बता दे कि वह है – 

  • आदित्य 
  • परम
  • परम इशान 
  • प्रत्युष 
  • एका 
  • अनुपम अध्या
  • सागा 220 
  • परम युवा II 

कंप्यूटर के फायदे (Advantages Of Computer In Hindi) 

कंप्यूटर के कई फायदे हैं, जिसके बारे में जितना बताएं उतना कम है। कंप्यूटर के कई सारे फायदे है जिसके बारे में जानना जरूरी है – 

  • कंप्यूटर के जरिए हम किसी भी गणित को आसानी से समाधान कर सकते हैं। 
  • कंप्यूटर पर हम हमारे जरूरी डॉक्यूमेंट को स्टोर करके रख सकते हैं। 
  • कंप्यूटर के जरिए हम कई तरह के कार्य को एक साथ पूरा कर सकते है। 
  • सिर्फ काम करने के लिए ही नहीं बल्कि हम कंप्यूटर का इस्तेमाल एंटरटेनमेंट के लिए भी कर सकते हैं। 
  • कंप्यूटर का इस्तेमाल हम हमारे बिजनेस में हिसाब करने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते है। 

Computer Kya Hai से जुड़े सवाल (F.A.Q) –

  1. कंप्यूटर क्या होता है?

    कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है, जिसके जरिए हम कई सारे कार्य को एक साथ सम्पूर्ण कर सकते है। कंप्यूटर कई सारे मैथमेटिकल गणना को आसानी से समाधान कर सकता है।

  2. कंप्यूटर का पूरा नाम क्या है?

    कंप्यूटर का फुल फॉर्म Commonly Operated Machine Particularly Used for Technology Education and Research है।

  3. कंप्यूटर का जनक कौन है?

    Computer का जनक वैज्ञानिक चार्ल्स बैबेज है।

  4. कंप्यूटर कैसे काम करता है?

    कंप्यूटर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर को मिलाकर कार्य करता है। कंप्यूटर सबसे पहले इनपुट यूआईटी के द्वारा हमारे दिए गए डाटा को प्राप्त करती है उसके बाद ये डाटा को प्रोसेस करके उसका जो भी आउटपुट होता है उसे यूजर को मॉनिटर के माध्यम से प्रदर्शित करता है।

  5. भारत में पहला कंप्यूटर कब आया था?

    भारत में पहला कंप्यूटर साल 1952 में कोलकाता शहर में भारतीय विज्ञान संस्थान में लगाया गया है।

  6. कंप्यूटर को हिंदी में क्या कहा जाता है?

    कंप्यूटर को हिंदी में संगणक कहते है।

  7. कंप्यूटर में इनपुट डिवाइस क्या है?

    कंप्यूटर में जिस हार्डवेयर डिवाइस के जरिए कंप्यूटर को कोई टास्क या इनपुट देते है उसे कंप्यूटर के भाषा में इनपुट डिवाइस कहां जाता है। कंप्यूटर के Input Device के बारे में बताएं तो वह है – Keyboard, Mouse, Touchscreen



निष्कर्ष

यदि आप Computer Kya Hai और कंप्यूटर कितने प्रकार के होते है, कंप्यूटर के विशेषताएं के बारे में नहीं जानते थे तो उम्मीद करता हूं की आप इस पोस्ट के जरिए कंप्यूटर क्या होता है के बारे में अच्छे से जान गए होंगे। 

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है, जो हमारे कई कार्य को आसान बनाने में काफी मदद करता है। कंप्यूटर का इस्तेमाल चिकित्सा क्षेत्र, स्कूल, कॉलेज, ऑफडिस लगभग सभी जगह किए जाते है। यदि आपके मन में कंप्यूटर क्या है से लेकर कोई प्रश्न है तो आप हमें नीचे कमेंट करके बता सकते है।

Leave a Comment