Vedanta Share Price Target 2023, 2024, 2025, 2030 सम्पूर्ण जानकारी

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

आज के इस आर्टिकल में हम Vedanta Share Price Target के बारे में जानेंगे और साथ में हम जानेंगे कि इस कंपनी का आने वाला भविष्य कैसा हो सकता है और इस कंपनी में कितना रिस्क है? अगर आपको इन सब के बारे में जानकारी चाहिए तो आपको इस आर्टिकल को ध्यान से पढना होगा|

तो चलिए ज्यादा देर ना करते हुए शुरू करते है इस आर्टिकल को और जानते है Vedanta Share Price Target 2023, 2024, 2025, 2030 के बारे में सम्पूर्ण जानकारी –

वेदांता के बारे में पूरी जानकारी (Vedanta Limited Review in Hindi)

वेदांता लिमिटेड एक भारतीय बहुराष्ट्रीय प्राकृतिक संसाधन कंपनी है जिसका मुख्यालय मुंबई, भारत में है। यह भारत, ऑस्ट्रेलिया और अफ्रीका में संचालन के साथ दुनिया की सबसे बड़ी विविध प्राकृतिक संसाधन कंपनियों में से एक है। कंपनी का प्राथमिक व्यवसाय खनन है, और यह तांबा, जस्ता, लौह अयस्क और एल्यूमीनियम सहित खनिजों की एक विस्तृत श्रृंखला का उत्पादन करती है। वेदांता का एक महत्वपूर्ण तेल और गैस व्यवसाय भी है, और यह भारत में तेल और गैस के सबसे बड़े उत्पादकों में से एक है।

वेदांता की स्थापना 25 जून 1965 में द्वारका प्रसाद अग्रवाल ने की थी। कंपनी का मूल नाम स्टरलाइट इंडस्ट्रीज था, और यह तांबे के खनन और गलाने पर केंद्रित थी। 1990 के दशक में, वेदांता ने जस्ता, लौह अयस्क और एल्यूमीनियम सहित अन्य क्षेत्रों में अपने परिचालन का विस्तार किया। 2000 के दशक में, वेदांता ने कई तेल और गैस संपत्तियों का अधिग्रहण किया और यह भारत में तेल और गैस के सबसे बड़े उत्पादकों में से एक बन गया।

Vedanta Share Price Target

वेदांता एक सार्वजनिक रूप से कारोबार करने वाली कंपनी है, और इसके शेयर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और भारत के नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध हैं। कंपनी का मार्केट कैप ₹ 99,249 करोड़  है। वेदांता फॉर्च्यून ग्लोबल 500 का सदस्य है, और यह सूची में 423वें स्थान पर है।


10 जनवरी 2024 के दिन Vedanta Share Price ₹ 267 के भाव पर चल रहा है| इस शेयर का 52 वीक हाई लेवल प्राइस ₹ 341 और 52 वीक लो लेवल प्राइस ₹208 रूपये के भाव पर है| पिछले 12 महीनों में शेयर की कीमत में 3.28% की गिरावट आई है। हालांकि, पिछले 3 वर्षों में शेयर की कीमत में 175.20% की वृद्धि हुई है।

वेदांता एक विवादास्पद कंपनी है, और इसके पर्यावरण रिकॉर्ड और श्रम प्रथाओं के लिए इसकी आलोचना की गई है। 2018 में, वेदांता पर भारत के थूथुकुडी में अपने कॉपर स्मेल्टर में पर्यावरण नियमों का उल्लंघन करने के लिए अमेरिकी पर्यावरण संरक्षण एजेंसी द्वारा $ 1 बिलियन का जुर्माना लगाया गया था। कंपनी पर भारत में अपनी खदानों में बाल श्रम का उपयोग करने का भी आरोप लगाया गया है।

विवाद के बावजूद, वेदांता वैश्विक प्राकृतिक संसाधनों के बाजार में एक प्रमुख खिलाड़ी है। कंपनी उभरती हुई अर्थव्यवस्थाओं से धातुओं और खनिजों की बढ़ती मांग से लाभ उठाने की बेहतर स्थिति में है। वेदांता तेल और गैस का एक प्रमुख उत्पादक भी है, और यह भारत में ऊर्जा की बढ़ती मांग से लाभान्वित होने के लिए अच्छी स्थिति में है।

मार्च 2023 के अनुसार कंपनी का शेयरहोल्डिंग पैटर्न निम्न प्रकार से है –

शेयरहोल्डर्स पैटर्नटोटल शेयरहोल्डिंग्स (%)
प्रमोटर्स68.11
विदेशी संस्थागत निवेशक (FII’s)7.89
घरेलु संस्थागत निवेशक (DII’s)10.20
भारतीय सरकार0.07
पब्लिक13.63
अन्य0.11

अब हम Vedanta Share Price Target के बारे में विस्तार से जानते है –

2023 में वेदांता का शेयर प्राइस टारगेट (Vedanta Share Price Target 2023 in Hindi)

बहुत से मार्केट एक्सपर्ट्स और ब्रोकरेज फर्म का यह मानना है कि 2023 में Vedanta Share Price Target 375 रूपये से 395 रूपये का भाव पर जा सकता है| ऐसे कई कारक हैं जो 2023 में शेयर की कीमत को प्रभावित कर सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  1. वैश्विक आर्थिक दृष्टिकोण: एक मजबूत वैश्विक अर्थव्यवस्था से धातुओं और खनिजों की अधिक मांग हो सकती है, जिससे वेदांता को लाभ होगा।
  2. भारतीय अर्थव्यवस्था: एक मजबूत भारतीय अर्थव्यवस्था भी धातुओं और खनिजों की उच्च मांग को जन्म दे सकती है, जिससे वेदांता को लाभ होगा।
  3. कंपनी का परिचालन प्रदर्शन: वेदांता का परिचालन प्रदर्शन धातुओं और खनिजों की कीमत, उत्पादन की लागत और संसाधनों की उपलब्धता सहित कई कारकों से प्रभावित हो सकता है।
  4. कंपनी का वित्तीय प्रदर्शन: वेदांता का वित्तीय प्रदर्शन कई कारकों से प्रभावित हो सकता है, जिसमें कंपनी का ऋण स्तर, इसका नकदी प्रवाह और इसकी कमाई शामिल है।
  5. कंपनी का प्रबंधन: कंपनी की प्रबंधन टीम अपने निर्णयों के माध्यम से शेयर की कीमत को प्रभावित कर सकती है कि संसाधनों को कैसे आवंटित किया जाए, व्यवसाय में कैसे निवेश किया जाए और जोखिमों का प्रबंधन कैसे किया जाए।

इन सब कारणों को देखते हुए अगर हम Vedanta Share Price Target 2023 की बात करें तो इस कंपनी का पहला शेयर प्राइस टारगेट 375 और दूसरा शेयर प्राइस टारगेट 395 रूपये हो सकता है|

2024 में वेदांता का शेयर प्राइस टारगेट (Vedanta Share Price Target 2024 in Hindi)

2024 में Vedanta Share Price Target ₹440 और ₹495 के बीच रहने की उम्मीद है। यह कंपनी के मौजूदा वित्तीय प्रदर्शन, इसकी विकास संभावनाओं और समग्र बाजार स्थितियों पर आधारित है।

यहां कुछ कारक हैं जो 2024 में वेदांता के शेयर मूल्य वृद्धि में योगदान कर सकते हैं –

  1. धातुओं की मजबूत मांग: 2024 में धातुओं की वैश्विक मांग मजबूत रहने की उम्मीद है, क्योंकि दुनिया भर की अर्थव्यवस्थाएं लगातार बढ़ रही हैं। यह मांग वेदांता के लिए अनुकूल हवा प्रदान करेगी, जो तांबा, जस्ता और एल्यूमीनियम जैसी धातुओं का एक प्रमुख उत्पादक है।
  2. बढ़ती कमोडिटी कीमतें: 2024 में कमोडिटी की कीमतें बढ़ने की उम्मीद है, जिससे इन कमोडिटीज के निर्माता के रूप में वेदांता को फायदा होगा।
  3. बढ़ा हुआ लाभांश भुगतान: वेदांता के 2024 में अपने लाभांश भुगतान में वृद्धि की उम्मीद है, जो निवेशकों के लिए स्टॉक को और अधिक आकर्षक बना देगा।

ऐसे में अगर हम Vedanta Share Price Target 2024 की बात करें तो इसका पहला शेयर प्राइस टारगेट 440 रूपये और दूसरा शेयर प्राइस टारगेट 495 रूपये पर जा सकता है|

2025 में वेदांता का शेयर प्राइस टारगेट (Vedanta Share Price Target 2025 in Hindi)

2025 में Vedanta Share Price Target 545 रूपये से 585 रुपये तक पहुंचने की उम्मीद है। यह कंपनी के मजबूत वित्तीय प्रदर्शन और आने वाले वर्षों में अपने कारोबार का विस्तार करने की योजना पर आधारित है।

वेदांता भारत, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका में संचालन के साथ एक प्रमुख खनन और धातु कंपनी है। कंपनी तांबा, एल्यूमीनियम, जस्ता, लौह अयस्क और तेल और गैस सहित खनिजों की एक विस्तृत श्रृंखला का उत्पादन करती है। वेदांता का लाभप्रदता और विकास का एक मजबूत ट्रैक रिकॉर्ड है। वित्तीय वर्ष 2022 में, कंपनी ने 30,000 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया।

खनन और धातु क्षेत्र आने वाले वर्षों में बढ़ने की उम्मीद है। यह चीन और भारत जैसी उभरती अर्थव्यवस्थाओं से धातुओं की बढ़ती मांग के कारण है। वेदांता इस वृद्धि से लाभान्वित होने के लिए अच्छी स्थिति में है। कंपनी के पास संपत्ति का एक मजबूत पोर्टफोलियो और निष्पादन का ट्रैक रिकॉर्ड है।

शेयर की कीमत को अधिक बढ़ाने वाले कारकों में शामिल हैं –

  1. कमोडिटी की बढ़ती कीमतें: हाल के महीनों में कमोडिटी की कीमतें बढ़ रही हैं, और यह प्रवृत्ति 2025 में जारी रहने की उम्मीद है। यह वेदांत के लिए सकारात्मक होगा, क्योंकि यह तांबा, जस्ता और लोहे जैसी वस्तुओं का प्रमुख उत्पादक है।
  2. अन्वेषण और उत्पादन में बढ़ा हुआ निवेश: वेदांता अन्वेषण और उत्पादन में भारी निवेश कर रहा है, जिससे नई खोज और उत्पादन में वृद्धि हो सकती है। इससे कंपनी की कमाई भी बढ़ेगी और शेयर की कीमत बढ़ जाएगी।
  3. खनन क्षेत्र के प्रति सकारात्मक भावना: हाल के वर्षों में खनन क्षेत्र पक्ष से बाहर हो गया है, लेकिन यह भावना बढ़ रही है कि इस क्षेत्र का मूल्यांकन नहीं किया गया है। इससे सेक्टर में निवेश बढ़ सकता है, जिससे वेदांता को फायदा होगा।

ऐसे में अगर हम Vedanta Share Price Target 2025 के बारे में बात करें तो इस कंपनी का 2025 में पहला शेयर प्राइस टारगेट 545 और दूसरा शेयर प्राइस टारगेट 585 रूपये हो सकता है|

2026 में वेदांता का शेयर प्राइस टारगेट (Vedanta Share Price Target 2026 in Hindi)

वेदांता भारत, ऑस्ट्रेलिया और अफ्रीका में संचालन के साथ एक प्रमुख विविध धातु और खनन कंपनी है। कंपनी के पास लाभप्रदता और विकास का एक मजबूत ट्रैक रिकॉर्ड है, और यह धातुओं और खनिजों की बढ़ती मांग से लाभ उठाने के लिए अच्छी स्थिति में है।

निकट अवधि में, वेदांता को तांबे और जस्ता की मजबूत मांग से लाभ होने की संभावना है, जो कि निर्माण, इलेक्ट्रॉनिक्स और विनिर्माण सहित विभिन्न उद्योगों में उपयोग किया जाता है। कंपनी लौह अयस्क के अपने उत्पादन का भी विस्तार कर रही है, जिसका उपयोग इस्पात निर्माण में किया जाता है।

दीर्घावधि में, वेदांता कम कार्बन वाली अर्थव्यवस्था में वैश्विक परिवर्तन से लाभान्वित होने के लिए अच्छी स्थिति में है। कंपनी नवीकरणीय ऊर्जा और अन्य स्वच्छ प्रौद्योगिकियों में निवेश कर रही है, जो इसे अपना व्यवसाय बढ़ाने और इसके पर्यावरणीय प्रभाव को कम करने में मदद कर सकती है।
ऐसे में अगर हम Vedanta Share Price Target 2026 की बात करें तो इस कंपनी का पहला शेयर प्राइस टारगेट 680 रूपये और दूसरा शेयर प्राइस टारगेट 710 रूपये हो सकता है|

2030 में वेदांता का शेयर प्राइस टारगेट (Vedanta Share Price Target 2030 in Hindi)

2030 में Vedanta Share Price Target ₹1410-1490 तक पहुंचने की उम्मीद है।यह कंपनी की विकास योजनाओं और वस्तुओं की मांग में अपेक्षित वृद्धि पर आधारित है।

वेदांता लिमिटेड भारत, दक्षिण अफ्रीका और नामीबिया में परिचालन के साथ एक विविध प्राकृतिक संसाधन कंपनी है। कंपनी जस्ता, सीसा, तांबा, चांदी, निकल और तेल और गैस सहित वस्तुओं की एक विस्तृत श्रृंखला का उत्पादन करती है। वेदांता लिमिटेड भी एल्यूमीनियम का एक प्रमुख उत्पादक है।

कंपनी के पास अगले दशक के लिए महत्वाकांक्षी विकास योजनाएं हैं। वेदांता लिमिटेड ने 2030 तक अपने संचालन में $100 बिलियन का निवेश करने की योजना बनाई है। इस निवेश का उपयोग कंपनी की उत्पादन क्षमता का विस्तार करने, इसकी दक्षता में सुधार करने और इसके पर्यावरणीय प्रभाव को कम करने के लिए किया जाएगा।

आने वाले वर्षों में इसके प्रोडक्ट्स की मांग बढ़ने की उम्मीद है। यह बढ़ती वैश्विक आबादी और बुनियादी ढांचे और औद्योगिक उत्पादों की बढ़ती मांग के कारण है। वेदांता लिमिटेड इस प्रवृत्ति से लाभान्वित होने के लिए अच्छी स्थिति में है। कंपनी के पास संपत्तियों का एक मजबूत पोर्टफोलियो है और परिणाम देने का एक लंबा इतिहास है।
कुल मिलाकर, वेदांता लिमिटेड का परिदृश्य सकारात्मक है। कंपनी के पास एक मजबूत विकास रणनीति है और वस्तुओं की बढ़ती मांग से लाभ उठाने के लिए अच्छी स्थिति में है।  ऐसे में अगर हम Vedanta Share Price Target 2030 की बात करें तो इस कंपनी का पहला शेयर प्राइस टारगेट 1410 और दूसरा शेयर प्राइस टारगेट 1490 रूपये हो सकता है|

Vedanta Share Price Target 2023, 2024, 2025, 2030 in Table

वर्षपहला शेयर प्राइस टारगेटदूसरा शेयर प्राइस टारगेट
2023375395
2024440495
2025545585
2026680710
203014101490

वेदांता शेयर का भविष्य (Future of Vedanta Share)

वेदांता के शेयर का भविष्य सकारात्मक नजर आ रहा है। कंपनी भारत, ऑस्ट्रेलिया, जाम्बिया और दक्षिण अफ्रीका में संचालन के साथ एक अग्रणी वैश्विक विविध प्राकृतिक संसाधन कंपनी है। यह तांबा, जस्ता, एल्यूमीनियम, लौह अयस्क और तेल और गैस सहित खनिजों और धातुओं की एक विस्तृत श्रृंखला का उत्पादन करता है। वेदांता का विकास और लाभप्रदता का एक मजबूत ट्रैक रिकॉर्ड है, और यह वैश्विक आर्थिक सुधार से लाभान्वित होने के लिए अच्छी स्थिति में है।

यहां कुछ कारक दिए गए हैं जो वेदांता शेयर के भविष्य के विकास को गति दे सकते हैं –

  1. धातुओं और खनिजों की मजबूत मांग: आने वाले वर्षों में धातुओं और खनिजों की वैश्विक मांग बढ़ने की उम्मीद है, जो वैश्विक अर्थव्यवस्था की वृद्धि और इलेक्ट्रिक वाहनों और नवीकरणीय ऊर्जा की बढ़ती मांग से प्रेरित है। वेदांता इस मांग से लाभान्वित होने के लिए अच्छी स्थिति में है, क्योंकि यह तांबा, जस्ता और एल्यूमीनियम का एक प्रमुख उत्पादक है।
  2. रेवेन्यु विविधीकरण: वेदांता तेल और गैस और नवीकरणीय जैसे नए व्यवसायों में निवेश करके अपनी राजस्व धाराओं में विविधता ला रहा है। इससे तांबे और जस्ता की कीमतों पर कंपनी की निर्भरता कम करने में मदद मिलेगी, जो हाल के वर्षों में अस्थिर रही है।
  3. लागत कम करने की पहल: वेदांता लागत घटाने की कई पहलों को लागू कर रही है, जो इसकी लाभप्रदता में सुधार करने में मदद करेगी। इन पहलों में इसके कार्यबल को कम करना, इसकी परिचालन दक्षता में सुधार करना और अपने आपूर्तिकर्ताओं के साथ बेहतर शर्तों पर बातचीत करना शामिल है।
  4. मजबूत बैलेंस शीट: वेदांता के पास एक मजबूत बैलेंस शीट है, जिसमें शुद्ध ऋण इक्विटी अनुपात 0.3 है। यह कंपनी को विकास के नए अवसरों में निवेश करने और किसी भी आर्थिक मंदी का सामना करने के लिए वित्तीय लचीलापन देता है।
  1. बेहतर परिचालन प्रदर्शन: वेदांता अपने परिचालन प्रदर्शन में सुधार करने में प्रगति कर रहा है, जिसके कारण उत्पादन अधिक और लागत कम हुई है। इससे कंपनी की लाभप्रदता और कैश फ्लो को बढ़ावा देने में मदद मिली है, जो स्टॉक के लिए सकारात्मक हैं।
  2. कर्ज घटाना: वेदांता अपने कर्ज को कम करने के लिए कदम उठा रही है, जो इस शेयर के लिए एक और सकारात्मक बात है। कम कर्ज का बोझ कंपनी को आर्थिक झटकों के प्रति अधिक लचीला बना देगा और इसकी क्रेडिट रेटिंग में सुधार करेगा, जिससे उधार लेने की लागत कम हो सकती है।
  3. डिविडेंड में ग्रोथ: वेदांत का लाभांश भुगतान करने का इतिहास रहा है, और कंपनी ने संकेत दिया है कि वह ऐसा करना जारी रखने की योजना बना रही है। यह स्टॉक के लिए एक और सकारात्मक है, क्योंकि यह निवेशकों को उनके निवेश से आय उत्पन्न करने का एक तरीका प्रदान करता है।

कुल मिलाकर देखा जाए तो वेदांता के शेयर का भविष्य सकारात्मक नजर आ रहा है। कंपनी के पास विकास और लाभप्रदता का एक मजबूत ट्रैक रिकॉर्ड है, और यह वैश्विक आर्थिक सुधार से लाभान्वित होने के लिए अच्छी स्थिति में है। ऊपर बताए गए कारक वेदांता शेयर के भविष्य के विकास को गति दे सकते हैं।

वेदांता शेयर में रिस्क (Risk in Vedanta Share)

वेदांता के शेयरों में निवेश से जुड़े कई जोखिम हैं। इसमे शामिल है:

  1. हाई डेब्ट लेवल: वेदांत के पास हाई लेवल का डेब्ट है, जो इसे बाजार में परिवर्तन के प्रति संवेदनशील बनाता है। अगर कमोडिटी की कीमतें गिरती हैं, या अगर कंपनी को किसी अन्य वित्तीय झटके का सामना करना पड़ता है, तो उसे अपने कर्ज चुकाने में कठिनाई हो सकती है।
  2. नियामक जोखिम: वेदांत कई ऐसे उद्योगों में काम करता है जो सरकारी विनियमन के अधीन हैं। नियमों में बदलाव का कंपनी के कारोबार पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।
  3. पर्यावरणीय जोखिम: वेदांता के खनन कार्यों की उनके पर्यावरणीय प्रभाव के लिए आलोचना की गई है। इन चिंताओं के परिणामस्वरूप कंपनी को कानूनी चुनौतियों या अन्य प्रतिबंधों का सामना करना पड़ सकता है।
  4. राजनीतिक जोखिम: वेदांत अस्थिर राजनीतिक वातावरण वाले कई देशों में काम करता है। इससे कंपनी के संचालन में रुकावट आ सकती है या सरकार की नीतियों में बदलाव हो सकता है जो कंपनी के व्यवसाय को नुकसान पहुंचा सकता है।
  5. वैश्विक आर्थिक दृष्टिकोण: वैश्विक अर्थव्यवस्था कई चुनौतियों का सामना कर रही है, जिसमें बढ़ती मुद्रास्फीति, ब्याज दरें और आपूर्ति श्रृंखला में व्यवधान शामिल हैं। इन चुनौतियों का धातुओं और अन्य वस्तुओं की मांग पर असर पड़ सकता है, जिससे वेदांता के कारोबार को नुकसान पहुंच सकता है।
  6. अन्य खनन कंपनियों का प्रदर्शन: वेदांता के प्रदर्शन की तुलना अन्य खनन कंपनियों के प्रदर्शन से की जाएगी। अगर दूसरी कंपनियां बेहतर प्रदर्शन करती हैं तो वेदांता के शेयर कमजोर प्रदर्शन कर सकते हैं।
  7. कंपनी की प्रबंधन टीम: कंपनी की प्रबंधन टीम इसकी व्यावसायिक योजना को क्रियान्वित करने और इसके जोखिमों के प्रबंधन के लिए जिम्मेदार है। यदि प्रबंधन टीम प्रभावी नहीं है, तो यह कंपनी के लिए समस्याएँ पैदा कर सकता है।

कुल मिलाकर, वेदांता शेयर एक जोखिम भरा निवेश है। निवेशकों को कंपनी में निवेश करने से पहले जोखिमों और संभावित पुरस्कारों पर सावधानी से विचार करना चाहिए।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

  1. वेदांता कंपनी किस सेक्टर में काम करती है?

    वेदांता लिमिटेड एक विविधीकृत प्राकृतिक संसाधन कंपनी है, जो एल्युमीनियम, जिंक-लेड-सिल्वर, तेल और गैस, लौह अयस्क, स्टील, तांबा, बिजली, फेरो मिश्र धातु और निकल में प्राथमिक हितों के साथ है।

  2. Vedanta के सीईओ का क्या नाम है?

    Vedanta के सीईओ सुनील दुग्गल है|

  3. Vedanta पर कर्ज कितना है?

    31 मार्च 2023 के अनुसार इस कंपनी पर कुल कर्ज ₹680 करोड़ है जिसे यह कंपनी तेजी से कम करने का प्रयास कर रही है|

  4. Vedanta का भविष्य कैसा है?

    अपने मजबूत फंडामेंटल और परिचालन प्रदर्शन में सुधार के कारण वेदांता के शेयर की कीमत भविष्य में बढ़ने की क्षमता है।

  5. 2030 में Vedanta Share Price Target क्या होगा?

    2030 में वेदांता का शेयर 1410 रूपये या 1490 रूपये के टारगेट प्राइस को टच कर सकता है|



निष्कर्ष

उम्मीद है कि आपको हमारी यह पोस्ट Vedanta Share Price Target 2023, 2024, 2025, 2030 अवश्य पसंद आयी होगी| अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों और सोशल मीडिया में अवश्य शेयर करें|

अगर आपको इस पोस्ट सम्बंधित कोई प्रश्न या सुझाव है तो आप हमें कमेंट कर सकते है| हम आपके कमेंट का जवाब देने की हर सम्भव कोशिश करेंगे|

Leave a Comment