IDFC First Bank Share Price Target 2023, 2024, 2025, 2030 सम्पूर्ण जानकारी

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

आज के इस आर्टिकल में हम IDFC First Bank Share Price Target के बारे में जानेंगे और साथ में हम जानेंगे कि इस कंपनी का आने वाला भविष्य कैसा हो सकता है और इस कंपनी में कितना रिस्क है? अगर आपको इन सब के बारे में जानकारी चाहिए तो आपको इस आर्टिकल को ध्यान से पढना होगा|

तो चलिए ज्यादा देर ना करते हुए शुरू करते है इस आर्टिकल को और जानते है IDFC First Bank Share Price Target 2023, 2024, 2025, 2030 के बारे में सम्पूर्ण जानकारी –

पोस्ट मुख्य हैडलाइन👉 दिखाये

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के बारे में पूरी जानकारी (IDFC First Bank Limited Review in Hindi)

IDFC First Bank भारत में एक प्राइवेट सेक्टर का बैंक है, जो 22 अगस्त 2015 को इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट फाइनेंस कंपनी लिमिटेड (IDFC) और तत्कालीन प्राइवेट सेक्टर के बैंक, द न्यू डेवलपमेंट बैंक (अब IDFC बैंक) के विलय से बना है। बैंक की 5,000 से अधिक शाखाओं और 22,000 एटीएम के साथ अखिल भारतीय उपस्थिति है।

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक अपने ग्राहकों को बचत और चालू खाते, लोन, निवेश और बीमा सहित बैंकिंग उत्पादों और सेवाओं की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करता है। बैंक का डिजिटल बैंकिंग पर भी विशेष ध्यान है, इसके मोबाइल ऐप और वेबसाइट ग्राहकों को अपने वित्त का प्रबंधन करने का एक सुविधाजनक तरीका प्रदान करते हैं।

IDFC First Bank Share Price Target

IDFC First Bank भारतीय बैंकिंग क्षेत्र में एक अग्रणी खिलाड़ी है। 2022 में, बिजनेस टुडे द्वारा बैंक को भारत में निजी क्षेत्र के बैंकों में 11वें स्थान पर रखा गया था। बैंक को इसके मजबूत वित्तीय प्रदर्शन और कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी के प्रति अपनी प्रतिबद्धता के लिए भी मान्यता दी गई है।

15 मार्च 2024 के अनुसार IDFC First Bank Share Price ₹77.7 के भाव पर ट्रेड कर रहा है। इस शेयर का 52 वीक हाई लेवल प्राइस ₹ 101 और 52 वीक लो लेवल प्राइस ₹ 52.1 है| वहीं इस बैंक का मार्केट कैप ₹ 54,944 करोड़ है|

मार्च 2023 को समाप्त वित्तीय वर्ष में, IDFC फर्स्ट बैंक ने ₹3,990 करोड़ का शुद्ध लाभ दर्ज किया, जो पिछले वर्ष में ₹2,790 करोड़ था। बैंक की शुद्ध ब्याज आय 18% बढ़कर ₹10,500 करोड़ हो गई, जबकि इसकी गैर-ब्याज आय 26% बढ़कर ₹3,200 करोड़ हो गई।

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक का ग्राहक आधार हाल के वर्षों में लगातार बढ़ा है, और मार्च 2023 तक 10.5 मिलियन था। बैंक के डिजिटल बैंकिंग प्लेटफॉर्म, आईडीएफसी फर्स्ट बैंक मोबाइल के 7 मिलियन से अधिक पंजीकृत उपयोगकर्ता हैं।

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक अपने डिजिटल बैंकिंग व्यवसाय को बढ़ाने पर केंद्रित है, और इसने प्रौद्योगिकी में भारी निवेश किया है। बैंक ने कई नए डिजिटल उत्पादों और सेवाओं को लॉन्च किया है, जिसमें केवल-मोबाइल बैंक खाता, पीयर-टू-पीयर लेंडिंग प्लेटफॉर्म और वेल्थ मैनेजमेंट प्लेटफॉर्म शामिल हैं।

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक मजबूत वित्तीय प्रदर्शन और बढ़ते ग्राहक आधार के साथ एक सुव्यवस्थित बैंक है। लंबी अवधि में बैंक के शेयर की कीमत में वृद्धि जारी रहने की संभावना है, जो इसके मजबूत बुनियादी सिद्धांतों और डिजिटल बैंकिंग पर इसके रणनीतिक फोकस द्वारा समर्थित है।

मार्च 2023 के अनुसार कंपनी का शेयरहोल्डिंग पैटर्न निम्न प्रकार से है –

शेयरहोल्डर्स पैटर्नटोटल शेयरहोल्डिंग्स (%)
प्रमोटर्स39.99
विदेशी संस्थागत निवेशक (FII’s)19.31
घरेलु संस्थागत निवेशक (DII’s)7.69
भारतीय सरकार3.98
पब्लिक29.05

अब हम IDFC First Bank Share Price Target के बारे में विस्तार से जानते है –

2023 में आईडीएफसी फर्स्ट बैंक का शेयर प्राइस टारगेट (IDFC First Bank Share Price Target 2023 in Hindi)

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के लिए 2023 में शेयर की कीमत का लक्ष्य अटकलबाजी का विषय है, क्योंकि ऐसे कई कारक हैं जो स्टॉक के प्रदर्शन को प्रभावित कर सकते हैं। हालांकि, बैंक के हालिया वित्तीय प्रदर्शन और विकास की संभावनाओं के आधार पर, कुछ विश्लेषकों का मानना है कि 2023 में IDFC First Bank Share Price Target ₹90-105 के बीच रहने की उम्मीद है।

See also  [MultiBagger Stock] NHPC Share Price Target 2023, 2024, 2025, 2030 सम्पूर्ण जानकारी

यहां कुछ कारण दिए गये है जिन से यह लगता है कि 2023 में यह शेयर अच्छा प्रदर्शन कर सकता है –

  1. स्ट्रोंग फाइनेंसियल परफॉरमेंस: बैंक ने हाल की तिमाहियों में मजबूत वित्तीय परिणाम दर्ज किए हैं, वित्त वर्ष 23 में नेट प्रॉफिट में 1575% की वृद्धि हुई है। यह वृद्धि हाई इंटरेस्ट इनकम, कम प्रावधानों और मजबूत शुल्क आय सहित कई कारकों से प्रेरित है।
  2. विकास की संभावनाएं: आईडीएफसी फर्स्ट बैंक आने वाले वर्षों में विकास के लिए अच्छी स्थिति में है। बैंक के पास एक मजबूत खुदरा फ़्रैंचाइज़ी है, और यह कॉर्पोरेट और थोक बैंकिंग क्षेत्रों में अपनी उपस्थिति का विस्तार कर रहा है। बैंक भारतीय अर्थव्यवस्था के विकास से भी लाभान्वित हो रहा है, जिसके आने वाले वर्षों में स्वस्थ गति से बढ़ने की उम्मीद है।
  3. कम वैल्यूएशन: आईडीएफसी फर्स्ट बैंक वर्तमान में अपने सेक्टर के अन्य बैंकों की तुलना में अपेक्षाकृत कम वैल्यूएशन पर कारोबार कर रहा है। इससे निवेशकों को डिस्काउंट पर शेयर खरीदने का मौका मिल सकता है।

इन सब कारणों को देखते हुए अगर हम IDFC First Bank Share Price Target 2023 की बात करें तो इस कंपनी का पहला शेयर प्राइस टारगेट 90 और दूसरा शेयर प्राइस टारगेट 105 रूपये हो सकता है|

2024 में आईडीएफसी फर्स्ट बैंक का शेयर प्राइस टारगेट (IDFC First Bank Share Price Target 2024 in Hindi)

2024 में IDFC First Bank Share Price Target ₹145 और ₹180 के बीच रहने की उम्मीद है। यह कंपनी के मौजूदा वित्तीय प्रदर्शन, इसकी विकास संभावनाओं और समग्र बाजार स्थितियों पर आधारित है।

यह निम्नलिखित कारकों पर आधारित है –

  • बैंक अपनी लोन बूक को स्वस्थ गति से बढ़ा रहा है। 2023 की मार्च तिमाही में, बैंक की लोन बूक में साल-दर-साल 22% की वृद्धि हुई है।
  • बैंक की एसेट क्वालिटी में काफी सुधार हुआ है। मार्च 2023 तक सकल गैर-निष्पादित परिसंपत्ति (एनपीए) अनुपात 1.15% था, जो मार्च 2018 में 4.01% था।
  • बैंक अपने शाखा नेटवर्क और डिजिटल उपस्थिति का विस्तार कर रहा है। इससे इसे अधिक ग्राहकों तक पहुंचने और अपना कारोबार बढ़ाने में मदद मिलेगी।

ऐसे में अगर हम IDFC First Bank Share Price Target 2024 की बात करें तो इसका पहला शेयर प्राइस टारगेट 145 रूपये और दूसरा शेयर प्राइस टारगेट 180 रूपये पर जा सकता है|

2025 में आईडीएफसी फर्स्ट बैंक का शेयर प्राइस टारगेट (IDFC First Bank Share Price Target 2025 in Hindi)

2025 में IDFC First Bank Share Price Target 195 रूपये से 265 रुपये तक पहुंचने की उम्मीद है। यह कंपनी के मजबूत वित्तीय प्रदर्शन और आने वाले वर्षों में अपने कारोबार का विस्तार करने की योजना पर आधारित है।

निम्न कारणों के आधार पर 2025 में IDFC First Bank Share Price Target बढ़ने की उम्मीद है –

  1. बैंक की मजबूत संपत्ति की गुणवत्ता: मार्च 2023 तक आईडीएफसी फर्स्ट बैंक की सकल गैर-निष्पादित संपत्ति (जीएनपीए) 0.9% और शुद्ध एनपीए 0.3% के साथ बहुत मजबूत संपत्ति की गुणवत्ता है। यह उद्योग के औसत 3.6% और 1.7% से बहुत कम है।
  2. बैंक की स्वस्थ विकास संभावनाएं: आईडीएफसी फर्स्ट बैंक से आने वाले वर्षों में 15-20% की स्वस्थ गति से अपनी लोन बुक बढ़ने की उम्मीद है। यह वृद्धि बैंक के रिटेल लोन और उसके मजबूत शाखा नेटवर्क पर ध्यान केंद्रित करने से संचालित होगी।
  3. बैंक की मजबूत पूंजी स्थिति: मार्च 2023 तक 15.9% के पूंजी पर्याप्तता अनुपात (CAR) के साथ IDFC फर्स्ट बैंक की पूंजी की स्थिति बहुत मजबूत है। यह 10.8% की नियामक आवश्यकता से बहुत अधिक है।

कुल मिलाकर, आईडीएफसी फर्स्ट बैंक का आउटलुक सकारात्मक है। बैंक के पास एक मजबूत संपत्ति की गुणवत्ता, स्वस्थ विकास की संभावनाएं और एक मजबूत पूंजी की स्थिति है। आने वाले वर्षों में इन कारकों से बैंक के शेयर मूल्य को समर्थन मिलने की संभावना है।

ऐसे में अगर हम IDFC First Bank Share Price Target 2025 के बारे में बात करें तो इस कंपनी का 2025 में पहला शेयर प्राइस टारगेट 195 और दूसरा शेयर प्राइस टारगेट 265 रूपये हो सकता है|

2026 में आईडीएफसी फर्स्ट बैंक का शेयर प्राइस टारगेट (IDFC First Bank Share Price Target 2026 in Hindi)

बहुत से मार्केट एक्सपर्ट और ब्रोकरेज फर्म के अनुसार, 2026 में IDFC First Bank Share Price Target ₹285-340 तक पहुंचने की उम्मीद है।बैंक के मजबूत वित्तीय प्रदर्शन, खुदरा उधार पर इसका ध्यान, और नए बाजारों में इसके विस्तार से आने वाले वर्षों में इसके विकास में योगदान की उम्मीद है।

See also  IREDA Share Price Target 2024, 2025, 2026, 2030, 2040

यहां कुछ कारक हैं जो 2026 में IDFC First Bank Share Price को बढ़ा सकते हैं –

  1. मजबूत वित्तीय प्रदर्शन: आईडीएफसी फर्स्ट बैंक हाल के वर्षों में लगातार लाभदायक रहा है। FY22 में, बैंक ने FY21 में ₹1,500 करोड़ से ₹2,100 करोड़ का शुद्ध लाभ दर्ज किया। यह मजबूत वित्तीय प्रदर्शन आने वाले वर्षों में जारी रहने की उम्मीद है, जो खुदरा उधार पर बैंक के फोकस और नए बाजारों में इसके विस्तार से प्रेरित है।
  2. खुदरा उधार पर फोकस: आईडीएफसी फर्स्ट बैंक हाल के वर्षों में रिटेल लोन देने पर अपना ध्यान केंद्रित कर रहा है। यह बदलाव सफल रहा है, रिटेल लोन अब बैंक की कुल लोन बुक का 60% से अधिक है। रिटेल लोन देने पर बैंक का ध्यान आने वाले वर्षों में जारी रहने की उम्मीद है, क्योंकि इस सेक्टर के समग्र बैंकिंग क्षेत्र की तुलना में तेजी से बढ़ने की उम्मीद है।
  3. नए बाजारों में विस्तार: आईडीएफसी फर्स्ट बैंक हाल के वर्षों में नए बाजारों में विस्तार कर रहा है। बैंक ने नए शहरों और राज्यों में शाखाएं खोली हैं, और इसने अपने उत्पादों और सेवाओं को नए ग्राहक वर्ग को पेश करना भी शुरू कर दिया है। आने वाले वर्षों में नए बाजारों में बैंक का विस्तार जारी रहने की उम्मीद है, क्योंकि इससे बैंक को अपनी लोन बूक और कस्टमर बेस बढ़ाने में मदद मिलेगी।

ऐसे में अगर हम IDFC First Bank Share Price Target 2026 की बात करें तो इस कंपनी का पहला शेयर प्राइस टारगेट 285 रूपये और दूसरा शेयर प्राइस टारगेट 340 रूपये हो सकता है|

2030 में आईडीएफसी फर्स्ट बैंक का शेयर प्राइस टारगेट (IDFC First Bank Share Price Target 2030 in Hindi)

2030 में IDFC First Bank Share Price Target ₹690-750 तक पहुंचने की उम्मीद है। यह इस धारणा पर आधारित है कि बैंक अपने व्यवसाय को बढ़ाना जारी रखेगा और अपने वित्तीय प्रदर्शन में सुधार करेगा।

यहां कुछ कारक दिए गए हैं जो अगले 7 वर्षों में आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के शेयर मूल्य में वृद्धि में योगदान कर सकते हैं –

  1. खुदरा ऋण में मजबूत वृद्धि: आईडीएफसी फर्स्ट बैंक हाल के वर्षों में खुदरा ऋण देने पर ध्यान केंद्रित कर रहा है और इससे इसकी ऋण पुस्तिका को बढ़ावा देने में मदद मिली है। अगले 8 वर्षों में बैंक के खुदरा ऋण पोर्टफोलियो के 15% सीएजीआर से बढ़ने की उम्मीद है।
  2. संपत्ति की गुणवत्ता में सुधार: पिछले कुछ वर्षों में आईडीएफसी फर्स्ट बैंक की संपत्ति की गुणवत्ता में काफी सुधार हुआ है। वित्त वर्ष 2016 में बैंक की सकल गैर-निष्पादित संपत्ति (एनपीए) अनुपात 3.4% से घटकर वित्त वर्ष 22 में 0.9% हो गया है। यह प्रवृत्ति अगले 8 वर्षों में जारी रहने की उम्मीद है।
  3. मजबूत पूंजी आधार: आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के पास मार्च 2022 तक 15.8% के पूंजी पर्याप्तता अनुपात (सीएआर) के साथ एक मजबूत पूंजी आधार है। इससे बैंक को वित्तीय प्रणाली में किसी भी झटके का सामना करने में मदद मिलेगी।
  4. डिजिटलीकरण: आईडीएफसी फर्स्ट बैंक डिजिटल बैंकिंग क्षेत्र में अग्रणी खिलाड़ी है। बैंक प्रौद्योगिकी में भारी निवेश कर रहा है और इससे उसे अपनी ग्राहक सेवा में सुधार करने और नए ग्राहकों तक पहुंचने में मदद मिली है।

 ऐसे में अगर हम IDFC First Bank Share Price Target 2030 की बात करें तो इस कंपनी का पहला शेयर प्राइस टारगेट 690 और दूसरा शेयर प्राइस टारगेट 750 रूपये हो सकता है|

IDFC First Bank Share Price Target 2023, 2024, 2025, 2030 in Table

वर्षपहला शेयर प्राइस टारगेटदूसरा शेयर प्राइस टारगेट
202390105
2024145180
2025195265
2026285340
2030690750

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक शेयर का भविष्य (Future of IDFC First Bank Share)

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक एक अपेक्षाकृत नया बैंक है, जिसका गठन 2015 में आईडीएफसी बैंक और आईडीएफसी लिमिटेड के विलय के माध्यम से किया गया था। अपनी कम उम्र के बावजूद, बैंक ने हाल के वर्षों में महत्वपूर्ण प्रगति की है, और विश्लेषक इसकी भविष्य की संभावनाओं को लेकर उत्साहित हैं।

यहां कुछ कारण बताए गए हैं कि आईडीएफसी फर्स्ट बैंक का भविष्य सकारात्मक क्यों हो सकता है –

  1. मजबूत विकास क्षमता: भारतीय अर्थव्यवस्था तेजी से बढ़ रही है, और यह आईडीएफसी फर्स्ट बैंक की ऋण वृद्धि के लिए अनुकूल हवा प्रदान कर रही है। पिछले पांच वर्षों में बैंक की ऋण पुस्तिका 25% की चक्रवृद्धि वार्षिक वृद्धि दर (CAGR) से बढ़ी है, और विश्लेषकों को आने वाले वर्षों में यह वृद्धि जारी रहने की उम्मीद है।
  2. सॉलिड एसेट क्वालिटी: IDFC फर्स्ट बैंक की एसेट क्वालिटी मजबूत है, मार्च 2023 तक नॉन-परफॉर्मिंग एसेट्स (NPA) कुल एसेट्स के प्रतिशत के रूप में 1.1% है। यह इंडस्ट्री के औसत 5.9% से काफी नीचे है। .
  3. स्वस्थ पूंजी स्तर: आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के पास मार्च 2023 तक 14.7% के पूंजी पर्याप्तता अनुपात (सीएआर) के साथ एक स्वस्थ पूंजी आधार है। यह 9% की नियामक आवश्यकता से काफी ऊपर है।
  4. डिजिटल फोकस: आईडीएफसी फर्स्ट बैंक डिजिटल परिवर्तन पर केंद्रित है, और यह इसकी दक्षता में सुधार करने और नए ग्राहकों तक पहुंचने में मदद कर रहा है। बैंक ने कई नवीन डिजिटल उत्पादों और सेवाओं को लॉन्च किया है, जैसे कि इसका मोबाइल ऐप और इसकी “इंस्टापे” मनी ट्रांसफर सेवा।
  5. स्ट्रोंग मैनेजमेंट टीम: बैंक का नेतृत्व एक मजबूत प्रबंधन टीम द्वारा किया जाता है, जिसका ट्रैक रिकॉर्ड सिद्ध है। सीईओ कल्पना मोरपारिया को बैंकिंग उद्योग में 30 से अधिक वर्षों का अनुभव है, और उनकी एक कायाकल्प विशेषज्ञ होने की प्रतिष्ठा है।
  6. बढ़ता कस्टमर बेस: बैंक का ग्राहक आधार तेजी से बढ़ रहा है। पिछले वर्ष में, बैंक के ग्राहक आधार में 20% से अधिक की वृद्धि हुई है। यह वृद्धि डिजिटल बैंकिंग पर बैंक के फोकस और नए बाजारों में इसके विस्तार से संचालित हो रही है।
See also  Hindustan Zinc Share Price Target 2023, 2024, 2025, 2030 सम्पूर्ण जानकारी

कुल मिलाकर, आईडीएफसी फर्स्ट बैंक मजबूत विकास क्षमता वाला एक सुप्रबंधित बैंक है। बैंक की मजबूत संपत्ति गुणवत्ता, स्वस्थ पूंजी स्तर और डिजिटल फोकस सभी सकारात्मक कारक हैं जो भविष्य में शेयर की कीमतों में और वृद्धि कर सकते हैं।

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक शेयर में रिस्क (Risk in IDFC First Bank Share)

बैंक के पास खुदरा ऋणों की अपेक्षाकृत उच्च सांद्रता है, जो आर्थिक मंदी के प्रति अधिक संवेदनशील हैं। नतीजतन, आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के शेयरों में निवेश से जुड़े कुछ जोखिम हैं।

यहां कुछ प्रमुख जोखिमों पर विचार किया गया है:

  1. सीमित ट्रैक रिकॉर्ड वाला नया बैंक: आईडीएफसी फर्स्ट बैंक एक अपेक्षाकृत नया बैंक है, और इसका ट्रैक रिकॉर्ड अपने कुछ पुराने साथियों के समान नहीं है। इससे बैंक की वित्तीय ताकत और आर्थिक मंदी के मौसम की क्षमता का आकलन करना अधिक कठिन हो सकता है।
  2. रिटेल लोन्स की उच्च सांद्रता:** आईडीएफसी फर्स्ट बैंक में खुदरा ऋणों की अपेक्षाकृत उच्च सांद्रता है, जो आर्थिक मंदी के प्रति अधिक संवेदनशील हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि खुदरा ऋण अक्सर ऐसे व्यक्तियों और व्यवसायों को दिए जाते हैं जो मंदी के दौरान अपने ऋणों पर डिफ़ॉल्ट होने की अधिक संभावना रखते हैं।
  3. उच्च गैर-निष्पादित परिसंपत्तियां: आईडीएफसी फर्स्ट बैंक में गैर-निष्पादित परिसंपत्तियों (एनपीए) का उच्च स्तर है, जो बकाया या चूक वाले ऋण हैं। यह एक जोखिम कारक है क्योंकि इससे बैंक को नुकसान हो सकता है और आय उत्पन्न करने की उसकी क्षमता कम हो सकती है।
  4. अन्य बैंकों से प्रतिस्पर्धा: आईडीएफसी फर्स्ट बैंक को घरेलू और विदेशी दोनों बैंकों से प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ता है। यह प्रतिस्पर्धा बैंक के लिए अपने ऋण पोर्टफोलियो और उसके मुनाफे को बढ़ाना मुश्किल बना सकती है।

कुल मिलाकर, आईडीएफसी फर्स्ट बैंक शेयर एक जोखिम भरा निवेश है। निवेशकों को कंपनी में निवेश करने से पहले जोखिमों और संभावित पुरस्कारों पर सावधानी से विचार करना चाहिए।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

  1. आईडीएफसी फर्स्ट बैंक कंपनी किस सेक्टर में काम करती है?

    आईडीएफसी फर्स्ट बैंक प्राइवेट सेक्टर का एक बैंक है जो अपने ग्राहकों को लोन, सेविंग और करंट बैंक अकाउंट, क्रेडिट कार्ड और कई प्रकार की फाइनेंसियल सर्विसेज प्रदान करता है|

  2. IDFC First Bank के सीईओ का क्या नाम है?

    IDFC First Bank के सीईओ वी. वैद्यनाथन है|

  3. IDFC First Bank पर कर्ज कितना है?

    31 मार्च 2023 के अनुसार इस कंपनी पर कुल कर्ज ₹16,777 करोड़ है जिसे यह कंपनी तेजी से कम करने का प्रयास कर रही है|

  4. IDFC First Bank का भविष्य कैसा है?

    यह कंपनी रिटेल लोन के साथ साथ डिजिटल बैंकिंग के सेक्टर में भी अपने बिज़नेस का विस्तार कर रही है| ऐसे इसका आने वाला भविष्य उज्जवल हो सकता है|

  5. 2030 में IDFC First Bank Share Price Target क्या होगा?

    2030 में आईडीएफसी फर्स्ट बैंक का शेयर 690 रूपये या 750 रूपये के टारगेट प्राइस को टच कर सकता है|



निष्कर्ष

उम्मीद है कि आपको हमारी यह पोस्ट IDFC First Bank Share Price Target 2023, 2024, 2025, 2030 अवश्य पसंद आयी होगी| अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों और सोशल मीडिया में अवश्य शेयर करें|

अगर आपको इस पोस्ट सम्बंधित कोई प्रश्न या सुझाव है तो आप हमें कमेंट कर सकते है| हम आपके कमेंट का जवाब देने की हर सम्भव कोशिश करेंगे|

Leave a Comment