Mutual Fund Kya Hai 2024 | म्यूचुअल फंड के प्रकार व फायदे [सम्पूर्ण जानकारी]

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Mutual Fund Kya Hai – यदि आप शेयर मार्केट में निवेश करते है, या फिर यदि आप शेयर मार्केट में निवेश करना शुरू कर रहे है तो आपने एक बार तो म्यूचुअल फंड के बारे में जरूर  सुना होगा। यदि आप Mutual Fund Kya Hai के बारे में नहीं जानते है तो यह पोस्ट काफी फायदेमंद होने वाला है। 

यदि आपको शेयर मार्केट के बारे में अच्छे से जानकारी नहीं है, फिर भी यदि आप शेयर मार्केट में निवेश करने के बारे में सोच रहे है, तो आप किसी अच्छे म्यूचुअल फंड में आपके पैसे को निवेश कर सकते है। क्यूंकि इससे आपके द्वारा इन्वेस्ट किए गए पैसे में कम लॉस देखने को मिलेगा साथ ही यदि आप किसी अच्छे म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट करते है तो इससे आपको अच्छा मुनाफा देखने को मिलेगा। 

आपके जानकारी के लिए बता दे की म्यूचुअल फंड में यदि आप आपके पैसे को निवेश करते है, तो इसमें लॉस होने का खतरा काफी कम होता है और यदि होता भी है तो काफी कम लॉस देखने को मिलता है। आपको बता दे कि म्यूचुअल फंड में जब आप किसी पैसे को निवेश करते है तो उस पैसे को किसी अच्छे फंड मैनेजर या एक्सपर्ट द्वारा मैनेज किया जाता है।

क्यूंकि म्यूचुअल फंड को किसी एक्सपर्ट द्वारा देखा जाता है इसी लिए आपको म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में काफी अच्छा प्रॉफिट भी देखने को मिलता है। यदि आप Mutual Fund Kya Hai और म्यूचुअल फंड के कितने प्रकार है, म्यूचुअल फंड के फायदे क्या है के बारे में जानना चाहते है तो इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़े क्यूंकि इस पोस्ट पर हम म्यूचुअल फंड के बारे में संपूर्ण जानकारी देंगे। 

Mutual Fund Kya Hai
पोस्ट मुख्य हैडलाइन👉 दिखाये

Mutual Fund Kya Hai | म्यूचुअल फंड क्या है 

म्यूचुअल फंड एक ऐसा फंड है जिसमे कई सारे निवेशकों के पैसे को एक साथ मिलाकर के किसी अनुभवी विशेषज्ञ द्वारा स्टॉक मार्केट में निवेश किया जाता है। और जिस विशेषज्ञ के द्वारा पैसे को निवेश किया जाता है उसे फंड मैनेजर या फंड एक्सपर्ट कहां जाता है। 

म्यूचुअल फंड को हिंदी में पारस्परिक निधि कहां जाता है। म्यूचुअल फंड में सभी निवेशकों के पैसे को एक साथ मिलाकर फंड मैनेजर द्वारा कई सारे अलग अलग शेयर में निवेश किया जाता है और उसमे जो प्रॉफिट यानी मुनाफा होता है उसे सभी निवेशकों को अच्छे से हिसाब करके प्रॉफिट सभी को दे दिया जाता है।

जिस अनुभवी फंड मैनेजर द्वारा म्यूचुअल फंड के पैसे को निवेश किया जाता है वह फंड मैनेजर सभी शेयर के फंडामेंटल और टेक्निकल एनालिसिस करके ही सभी शेयर में निवेश करते है। इसीलिए यदि आप पहली बार स्टॉक में निवेश कर रहे है तो आपको सबसे पहले म्यूचुअल फंड में निवेश करना चाहिए इससे नुकसान होने के खतरे से बच सकते है।   

जिन्हे शेयर मार्केट के बारे में कोई भी जानकारी नहीं है, और जो शेयर मार्केट के बारे में कुछ भी नहीं जानते है उनके लिए म्यूचुअल फंड काफी फायदेमंद है क्यूंकि एक तो इसमें Loss होने का खतरा कम है साथ ही इस फंड को अनुभवी एक्सपर्ट द्वारा मैनेज किया जाता है। यदि आप किसी अच्छे म्यूचुअल फंड में निवेश करते है तो  आप अच्छा मुनाफा कमा सकते है।

See also  इंट्राडे ट्रेडिंग से पैसे कैसे कमाये | Intraday Trading Se Paise Kaise Kamaye

म्यूचुअल फंड का उदाहरण (Example Of Mutual Fund In Hindi) 

म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) के बारे में तो आप समझ गए होंगे अब यदि आपको उदाहरण स्वरूप समझाएं तो मान लीजिए की किसी दुकान में मिठाई का एक पूरा डिब्बा ₹600 के कीमत में बिक रहा है लेकिन आप उसे खरीदना चाहते है परंतु पूरा डिब्बा नहीं खरीदना चाहते है या आपके पास उतना पैसे नहीं है। 

लेकिन उसी मिठाई के डिब्बे को यदि आप 3 दोस्त मिलकर एक एक दोस्त ₹200 करके खरीदते है तो ₹600 के डिब्बे को आसानी से खरीद सकते है। ठीक उसी तरह म्यूचुअल फंड में भी सभी निवेशकों के पैसे को इकट्ठा किया जाता है फिर उसे अलग अलग शेयर में फंड मैनेजर द्वारा निवेश किया जाता है। 

म्यूचुअल फंड कितने प्रकार के होते है (Types Of Mutual Fund In Hindi)

Mutual Fund Kya Hai इसके बारे में तो आप जान ही गए होंगे। अब यदि म्यूचुअल फंड के प्रकार के बारे में बताएं तो Mutual Fund के कई सारे प्रकार होते है, यदि म्यूचुअल फंड के प्रकार के बारे में बताएं तो वह है – 

  • इक्विटी फंड 
  • डेट फंड 
  • हाइब्रिड फंड
  • इंडेक्स्ड फंड
  • मनी मार्केट फंड

इक्विटी फंड (Equity Fund)

इक्विटी फंड एक ऐसा फंड है, जो शेयरों में निवेश करता है। इस फंड में यदि कोई लंबे समय के लिए निवेश करता है तो उसे काफी ज्यादा मुनाफा देखने को मिलता है। लेकिन इस फंड में काफी ज्यादा Risk (जोखिम) भी होता है। 

डेट फंड (Debt Fund)

डेट फंड (Debt Fund) एक ऐसा फंड है, जो बॉन्ड और Corporate Fixed Deposit में निवेश किया जाता है। इस तरह के फंड में Risk काफी कम होता है, साथ ही डेट फंड में आपको काफी कम मुनाफा भी देखने को मिलता है। यदि आप आपके इन्वेस्टमेंट पर रिस्क लेना नहीं चाहते है तो इस फंड में निवेश कर सकते है। 

हाइब्रिड फंड (Hybrid Fund) 

हाइब्रिड फंड को Balanced Fund या फिर Investment Company Fund भी कहां जाता है, इस तरह के फंड में आपके द्वार निवेश किए गए पैसे को हाइब्रिड एसेट यानी Bond के साथ साथ Share में यानी दोनो में हीं निवेश किया जाता है। यह हाइब्रिड फंड इक्विटी और डेट फंड (debt fund) दोनो में निवेश करता है इसीलिए इस फंड में रिस्क कम होता है, साथ ही रिटर्न भी अच्छा देखने को मिलता है। 

इंडेक्स्ड फंड (Indexed Fund)

Indexed Fund (इंडेक्स्ड फंड) एक ऐसा म्यूचुअल फंड है, जो शेयर मार्केट में सूचकांक का अनुसरण करते हैं। जो निवेशक कम निवेश करना चाहते है साथ ही कम जोखिम उठाना चाहते है उनके लिए ये फंड काफी फायदेमंद है। इस प्रकार के फंड में फंड मैनेजर किसी स्पेसिफिक शेयर में पैसे नहीं लगाते है बल्कि शेयर मार्केट में सूचकांक में शामिल सभी शेयर में आपके द्वारा निवेश किए गई पैसे को इन्वेस्ट करते है।  

मनी मार्केट फंड (Money Market Fund)

मनी मार्केट फंड में बहुत ही कम Risk होता है, और आपको इस फंड में काफी Short Term में अच्छा मुनाफा देखने को मिलता है। इस प्रकार के फंड में पैसे को Government Treasury Bills, Banks यानी अच्छे क्वालिटी एसेट में निवेश किया जाता है। 

म्यूचुअल फंड के फायदे (Advantages Of Mutual Fund In Hindi) 

Mutual Fund एक बहुत ही अच्छा निवेश विकल्प है, जो पहली बार निवेश करना चाहते है। यदि म्यूचुअल फंड के फायदे क्या क्या है के बारे में बताएं तो Mutual Fund के कई सारे फायदे है जिसके बारे में बताएं तो वह है –

  1. म्यूचुअल फंड पहली बार निवेश करने वाले निवेशकों के लिए अच्छा है। 
  1. यदि आप मनी मार्केट फंड या फिर डेट फंड में निवेश करते है तो आपको काफी कम Risk देखने को मिलता है
  1. यदि आप इक्विटी फंड में सोच समझकर काफी लंबे समय के लिए निवेश करते है तो आपको काफी अच्छा रिटर्न देखने को मिलता है। 
  1. ELSS यानी टैक्स सेविंग म्यूचुअल फंड एक ऐसा म्यूचुअल फंड है, जो आपको सेक्शन 80C के तहत टैक्स से छुटकारा पाने में मदद करता है।
See also  शेयर मार्केट से पैसे कैसे कमाएं 2024 | Share market se paise kaise kamaye (How to Earn Money from Share Market)

जैसे म्यूचुअल फंड के कई फायदे है, ठीक उसी तरह इस म्यूचुअल फंड के कुछ नुकसान भी है जैसे कई फंड है जिसमे आपको अच्छा रिटन देखने को तो मिल सकता है, ठीक उसी तरह Risk भी काफी ज्यादा है। और यदि आप किसी Risk कम वाले फंड में निवेश करते है तो आपको काफी कम रिटर्न मिलता है। 

म्यूचुअल फंड के नुकसान (Disadvantages Of Mutual Fund In Hindi)

म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) के जैसे कई सारे नुकसान है, ठीक उसी तरह म्यूचुअल फंड के कई नुकसान भी है जिसके बारे में आपको जानना चाहिए। यदि म्यूचुअल फंड के नुकसान के बारे में बताएं तो वह है –

  • जैसे शेयर मार्केट में प्रॉफिट की कोई गारंटी नहीं होती ठीक उसी तरह Mutual Fund में भी प्रॉफिट रिटर्न की कोई Guarantee नहीं होती है।
  • जब हम किसी म्यूचुअल फंड में निवेश करते है तब हम उस निवेश किए गई पैसे को अपने पसंद किए गए किसी शेयर या फिर Bond में निवेश नहीं कर सकते है क्यूंकि किसी भी म्यूचुअल फंड के फंड को फंड मैनेजर द्वारा निवेश किया जाता है। 
  • म्यूचुअल फंड में स्टॉक से कम मुनाफा देखने को मिलता है। 
  • म्यूचुअल फंड में जब आप निवेश करते है तो आपको मुनाफे के ऊपर भी टैक्स भरना पढ़ता है।

किस तरह के म्यूचुअल फंड में निवेश करना चाहिए 

आप यदि म्यूचुअल फंड में निवेश करना चाहते है, लेकिन आप इस दुविधा में है की किस म्यूचुअल फंड में निवेश करना चाहिए तो आपको बता दे की आप किसी भी म्यूचुअल फंड में निवेश करने से पहले खुद से भी रिसर्च कर ले की आपके लिए कौनसा फंड सही है। 

जैसे यदि आप कम रिस्क लेना चाहते है तो आप डेट फंड या मनी मार्केट फंड में निवेश कर सकते है क्यूंकि उसमे काफी कम रिस्क होता है। ठीक उसी तरह यदि आप Long Term के लिए ज्यादा Return के उम्मीद में इन्वेस्ट करना चाहते है और थोड़ा Risk ले सकते है तो आप इक्विटी फंड को ले सकते है। 

म्यूचुअल फंड कैसे खरीदे | म्यूचुअल फंड में निवेश कैसे करें 

Mutual Fund में कोई भी निवेशक काफी आसानी से निवेश करना शुरू कर सकता है, लेकिन निवेश करने से पहले आपको आपके अनुसार रिसर्च करके ही फंड को चुनना चाहिए। यदि आप Mutual Fund Kaise Kharide के तरीके के बारे में जानना चाहते है, तो आप नीचे तरीके को फॉलो कर सकते है – 

  1. म्यूचुअल फंड खरीदने के लिए आपको सबसे पहले किसी ब्रोकरेज ऐप में अकाउंट खोलना होगा जिसके लिए आप Groww, Upstox या फिर Zerodha आदि प्लेटफार्म में Demat अकाउंट खोल सकते है। 
  1. Demat अकाउंट Create करने के बाद, आपको App में म्यूचुअल फंड के ऑप्शन पर जाना होगा। 
  1. अब आप जिस प्रकार के म्यूचुअल फंड (इक्विटी, डेट, इंडेक्स्ड, आदि फंड) को खरीदना चाहते है आपको उस म्यूचुअल फंड पर क्लिक करके पेमेंट कर देना होगा। 

पेमेंट कर देने के बाद, आप उस म्यूचुअल फंड के निवेशक बन जायेंगे। आपको हम सलाह देंगे की किसी भी म्यूचुअल फंड में निवेश करने से पहले आप उस फंड के बारे में अच्छे से जानकारी प्राप्त करें इससे आपको काफी मदद मिलेगी और आप सही Mutual Fund में निवेश करके अच्छा कमाई कर सकते हैं।

सबसे ज्यादा रिटर्न देने वाला म्यूचुअल फंड (Best Indian Mutual Fund) 

यदि आप म्यूचुअल फंड में निवेश करना शुरू करना चाहते है, और आप सबसे ज्यादा रिटर्न देने वाला म्यूचुअल फंड कौनसा है के बारे में जानना चाहते है, तो वह है –

  • TATA Digital India Fund
  • ICICI Prudential Technology Fund
  • Aditya Birla Sun Life Digital India Fund
  • SBI Technology Opportunities Fund
  • Tata Digital India Fund
  • Axis Bluechip Fund
See also  शेयर मार्केट कैसे सीखे | Learn Share Market in Hindi 2024

ध्यान दे – हम आपको किसी भी म्यूचुअल फंड में निवेश करने का सलाह नहीं देते है। किसी भी म्यूचुअल फंड में निवेश करने से पहले आपको उस फंड के बारे में अच्छे से रिसर्च करना जरूरी है।  

म्यूचुअल फंड में निवेश करने के तरीके 

म्यूचुअल फंड में आप 2 तरीके से निवेश कर सकते है एक SIP यानी Systematic Investment Plan हर महीने थोड़ा थोड़ा करके पैसे निवेश करके दूसरा आप Lupsum यानी एक बार में मोटा पैसे किसी म्यूचुअल फंड में कुछ साल के लिए निवेश कर सकते है। 

म्यूचुअल फंड में कितना ब्याज मिलता है? 

म्युचुअल फंड में कितना ब्याज मिलता है यह आपके द्वारा चयन किए गए म्युचुअल फंड पर निर्भर करता है आप जिस तरीके का म्युचुअल फंड लेते हैं और कितने समय के लिए लेते हैं यह भी मायने रखता है। देखा जाए तो आपको म्युचुअल फंड में सालाना 7% से लेकर 15% तक का व्याज देखने को मिलता है लेकिन म्युचुअल फंड में उतार-चढ़ाव रहते हैं। 

म्यूचुअल फंड क्या होता है से संबंधित (F.A.Q)

म्यूचुअल फंड क्या है? (Mutual Fund Kya Hai)

म्यूचुअल फंड एक ऐसा फंड है, जिसमे कई सारे निवेशकों के पैसे को एक साथ मिलाकर किसी Fund Manager या Fund Expert द्वारा सोच समझकर शेयर मार्केट में इक्विटी, डेट, इंडेक्स्ड फंड में निवेश किया जाता है।

क्या शेयर मार्केट में निवेश करने से पहले म्यूचुअल फंड में निवेश करना चाहिए?

हां बिल्कुल यदि आपको शेयर मार्केट का अच्छा ज्ञान नहीं है तो आपको शेयर मार्केट में निवेश करने से पहले म्यूचुअल फंड में निवेश करना चाहिए क्यूंकि म्यूचुअल फंड में पैसे को किसी विशेषज्ञ द्वारा निवेश किया जाता है। जिसे Loss होने का खतरा (Risk) कम रहता है।

म्यूचुअल फंड के नुकसान क्या हैं?

म्यूचुअल फंड के जैसे कई फायदे है ठीक उसी तरह इसके कुछ नुकसान भी है जैसे यदि आप किसी ऐसे म्यूचुअल फंड में निवेश करते है जिसमे कम रिस्क है उसमे आपको काफी कम रिटर्न देखने को मिलते है।

म्यूचुअल फंड के किस फंड में सबसे ज्यादा रिटर्न देखने को मिलता है?

म्यूचुअल फंड के इक्विटी फंड में आपको काफी अच्छा रिटर्न देखने को मिलता है, लेकिन इस फंड में Risk काफी ज्यादा है।

म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) से पैसा कब निकाल सकते हैं?

म्यूचुअल फंड में निवेश किए गए पैसे को आप कभी भी निकाल सकते है।

भारत में म्यूच्यूअल फण्ड की शुरुवात कब से हुई थी?

यदि भारत में म्यूचुअल फंड की शुरुवात की बात करें तो म्यूचुअल फंड की शुरुवात भारत में साल 1963 में यूनिटी ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया के द्वारा हुई थी जिसे UTI के नाम से भी जाना जाता है।

NAV क्या है?

म्यूचुअल फंड में निवेश करने के एक गणना को ही NAV कहां जाता है। NAV का पूरा नाम Net Asset Value है।



Mutual Fund Kya Hai – निष्कर्ष

म्यूचुअल फंड एक बहुत ही अच्छा निवेश विकल्प है। म्यूचुअल फंड में आपके द्वारा निवेश किए गए पैसे को Fund Manager द्वारा निवेश किया जाता है।

यदि आप Mutual Fund Kya Hai साथ ही म्यूचुअल फंड के फायदे, म्यूचुअल फंड के प्रकार के बारे में नहीं जानते थे तो उम्मीद करते है की आप इस पोस्ट से Mutual Fund के बारे में जान गए होंगे।

Leave a Comment