ट्रेडिंग क्या है? कितने प्रकार के होते है? कैसे सीखे? [सम्पूर्ण जानकारी] 

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Trading Kya Hai (ट्रेडिंग क्या है) – यदि आप शेयर मार्केट में रुचि रखते है, तो शायद आप Trading Kya Hai इसके बारे में जरूर जानते होंगे और यदि आप नहीं जानते की ट्रेडिंग क्या होता है तो आज के इस पोस्ट पर हम आप सभी को ट्रेडिंग क्या है, ट्रेडिंग कितने प्रकार के होते है, ट्रेडिंग कैसे सीखे, ट्रेडिंग कैसे करें और साथ ही ट्रेडिंग से पैसे कैसे कमाए इसके बारे में अच्छे से जानकारी देंगे। 

आज के समय में यह तो आप जरूर सुनते ही होंगे कि कोई शेयर मार्केट में ट्रेडिंग करके पैसे कमा रहा है तो कोई क्रिप्टो करेंसी में निवेश करके पैसे कमा रहे है लेकिन यदि आप Trading क्या होता है इसके बारे में नहीं जानते है तो आपको आपके जानकारी के लिए बता दे की किसी भी वस्तु को आप जब काम कीमत में खरीदते है और उसे बाद में ज्यादा कीमत में बेच देते है तो उसे ही फाइनेंस के भाषा में ट्रेडिंग (Trading) कहा जाता है। 

स्टॉक मार्केट के उदाहरण से समझे तो यदि आप किसी स्टॉक में निवेश करते है और फिर बाद में उस स्टॉक को मुनाफे में बेच देते है तो उसे ही साधारण भाषा में ट्रेडिंग कहा जाता है ठीक उसी तरह जब कोई व्यक्ति क्रिप्टो में ट्रेडिंग करता है तो जब वह व्यक्ति किसी क्रिप्टो करेंसी में निवेश करता है फिर प्रॉफिट में उस क्रिप्टी करेंसी को बेच देता है उसे भी ट्रेडिंग कहा जाता है। तो चलिए Trading Kya Hai और ट्रेडिंग से पैसे कैसे कमाए, ट्रेडिंग कितने प्रकार के होते है, ट्रेडिंग कैसे सीखे के बारे में जानते है। 

पोस्ट मुख्य हैडलाइन👉 दिखाये

Trading Kya Hai (ट्रेडिंग क्या है) 

आज के समय में ट्रेडिंग यह शब्द काफी ज्यादा इस्तेमाल होता है, क्या आप ट्रेडिंग क्या है इसके बारे में जानते है? यदि नहीं तो आपको आपके जानकारी के लिए बता दे की ट्रेडिंग का मतलब Buy & Sell यानी खरीदना और बेचना होता है। यदि Trading को अच्छे से समझे तो बता दे की किसी वस्तु या संपति को कम कीमत में खरीदकर उसे बाद में ज्यादा कीमत में बेचने को ही फाइनेंस के भाषा में ट्रेडिंग कहा जाता है। 

Trading Kya Hai

ट्रेडिंग क्या होता है को यदि और भी अच्छे से समझे तो मान लीजिए कि आपने होलसेल मार्केट से कोई मशीन 1000 रुपए में खरीदा है और बाद में उसी मशीन को आपने ₹1500 में बेच दिया है इसी को ही ट्रेडिंग कहा जाता है। कोई ट्रेडिंग करके एक दिन में लाभ कमाता है, तो कोई किसी शेयर में निवेश करके बाद में शेयर प्राइस बढ़ने पर उसे बेच कर लाभ कमाते है। ट्रेडिंग में काफी Risk भी होता है इसीलिए इसे काफी सोच समझकर करना पढ़ता है। 

Trading Meaning In Hindi [ट्रेडिंग का मतलब] 

Trading Meaning In Hindi के बारे में बताए तो ट्रेडिंग का मतलब Buy & Sell होता है यानी किसी सामान या सर्विस में निवेश करके उससे लाभ कमाने के तरीके को ही Trading कहा जाता है। जो लोग Trade करते है उन्हे Trader कहा जाता है। जहां ट्रेडिंग करके कुछ लोग Loss करते है वहीं कुछ लोग ट्रेडिंग से लाखों रुपए का प्रॉफिट भी कमाते है। 

शेयर मार्केट में ट्रेडिंग क्या है

यदि शेयर मार्केट में ट्रेडिंग क्या होता है के बारे में बताएं तो शेयर मार्केट में शेयर खरीदने और उसे बेचने के प्रोसेस को ही ट्रेडिंग कहा जाता है। यदि इसे आसान भाषा में समझे तो मान लीजिए कि आपने Tata Motors Share में 1 शेयर खरीदा है जिसकी कीमत ₹915 है और उसी शेयर का प्राइस साल के अंत तक ₹980 रुपए हो जाता है फिर आप उस शेयर को मुनाफे में बेच देते है तो उसी को ही शेयर मार्केट के भाषा में ट्रेडिंग कहा जाता है। कोई शेयर मार्केट में Long Term के लिए निवेश करता है, तो कोई व्यक्ति इंट्रा डे में निवेश करके 1 दिन में प्रॉफिट कमाते है। शेयर मार्केट में यदि कोई ट्रेडिंग करता है तो बता दे कि इसमें काफी जोखिम है। 

कृपया यहां ध्यान दे – लोग ट्रेडिंग सिर्फ शेयर मार्केट में ही नहीं करते है, बल्कि ऑनलाइन ट्रेडिंग लोग क्रिप्टो करेंसी, गोल्ड, सिल्वर, क्रूड ऑयल, फॉरेक्स आदि में भी ट्रेड करते है। 

ट्रेडिंग कितने प्रकार के होते है – Trading Kitne Prakar Ke Hote Hai 

image 1

Trading Kya Hai इसके बारे में तो आप अच्छे से जान ही गए होंगे, अब यदि Trading Types In Hindi के बारे में बताएं तो ट्रेडिंग कई प्रकार के होते है लेकिन कुछ मुख्य ट्रेडिंग के प्रकार के बारे में बताएं तो वह है – 

1) इंट्राडे ट्रेडिंग (Intraday Trading)

2) स्विंग ट्रेडिंग (Swing Trading) 

3) पोजिशनल ट्रेडिंग (Positional Trading)

4) स्कैल्पिंग ट्रेडिंग (Scalping Trading)

5) फॉरेक्स ट्रेडिंग (Forex Trading) 

6) कमोडिटी ट्रेडिंग (Commodity Trading)

7) क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग (Crypto Trading) 

1) इंट्राडे ट्रेडिंग (Intraday Trading)

इंट्राडे ट्रेडिंग एक ऐसा ट्रेडिंग है, जिसमे आपको Same Day शेयर Buy करके उसे उसी दिन ही मार्केट बंद होने से पहले बेचना पढ़ता है। यदि Intraday Trading को आसान भाषा में समझे तो आपको इस ट्रेडिंग में एक ही दिन में शेयर को खरीदकर आपको शेयर को उसी दिन मार्केट बंद होने से पहले बेचना पढ़ता है। 

मान लीजिए की आप Intraday Trading में आज कोई शेयर खरीदे है तो आपको उस शेयर को आज ही मार्केट बंद होने से पहले बेच देना होगा यदि आप किसी कारण Intraday Trading में शेयर को बेचना भूल जाते है तो मार्केट बंद होने के बाद आपने शेयर को ब्रोकर खुद ब खुद बेच देता है और आपको इसके बदले अलग से चार्ज भी देना पड़ता है। 

इंट्राडे ट्रेडिंग के बारे में बताएं तो इस प्रकार का ट्रेडिंग काफी ज्यादा लोकप्रिय है। भारत में ऐसे कई लोग है, जो रोज इंट्राडे ट्रेडिंग करते है और रोज काफी अच्छा मुनाफा भी कमाते है। इंट्राडे ट्रेडिंग में लोग कम समय में प्रॉफिट कमाने का पूरा कोशिश करते है। इंट्राडे ट्रेडिंग में सबसे ज्यादा महत्व लोग चार्ट पैटर्न को देते है क्यूंकि उसी से लोग शेयर प्राइस को प्रेडिक्ट करते है। 

2) स्विंग ट्रेडिंग (Swing Trading)

इंट्राडे ट्रेडिंग के बारे में तो आप अच्छे से जान ही गए होंगे | अब अगर स्विंग ट्रेडिंग के बारे में बताएं तो यह भी काफी लोकप्रिय है। इंट्राडे ट्रेडिंग में लोग शेयर को कुछ दिन से लेकर के 1 हफ्ते तक खरीदकर रखते है और फिर कुछ दिन या 1 हफ्ते बाद प्रॉफिट में उस शेयर को बेच देते है इसे ही Swing Trading कहा जाता है। 

Swing Trading की बात करें तो इस प्रकार के ट्रेडिंग में लोग शेयर को तब तक होल्ड करके रखते है जब तक उन्हें 5% का प्रॉफिट नहीं होता है। आप सभी के जानकारी के लिए यह भी बता दे की Swing Trading इंट्राडे ट्रेडिंग के तुलना में काफी ज्यादा Safe है, क्यूंकि इस प्रकार के ट्रेडिंग में आपको शेयर को Same Day में नहीं बेचना पढ़ता है आप शेयर को कुछ दिन में या 1 हफ्ते बाद भी बेच सकते है। 

3) पोजिशनल ट्रेडिंग (Positional Trading)

Positional Trading भी कई लोग करते है। इस प्रकार के ट्रेडिंग को काफी Safe माना जाता है और इस प्रकार के ट्रेडिंग में Risk भी काफी कम होता है। यदि पोजिशनल ट्रेडिंग क्या होता है के बारे में बताएं तो इस प्रकार के ट्रेडिंग में लोग शेयर को Long Term के लिए यानी काफी समय लगभग कुछ महीने से लेकर के 1 साल तक होल्ड करके रखते है उसके बाद प्रॉफिट देखकर बेच देते है, इसी तरह के ट्रेडिंग को ही पोजिशनल ट्रेडिंग कहा जाता है। 

4) स्कैल्पिंग ट्रेडिंग (Scalping Trading)

स्काल्पिंग ट्रेडिंग की बात करें तो बहुत ही कम लोग स्काल्पिंग ट्रेडिंग करते हैं यह ट्रेडिंग काफी ज्यादा रिस्की है। Scalping Trading Kya Hai के बारे में बताएं तो इस प्रकार के ट्रेडिंग को भी शेयर मार्केट खुलने और बंद होने के बीच में ही किया जाता है लेकिन इस प्रकार के ट्रेडिंग में लोग एक Trade को कुछ ही सेकंड या मिनिट में ही Trade करके Profit Book करते है | 

मान लीजिए की किसी ने इस प्रकार के ट्रेडिंग में 10:35am को कोई ट्रेड लिया है तो उसे 10:45 में Sell कर दिए है उसे की Scalping Trading कहा जाता है, इस प्रकार के ट्रेडिंग में काफी ज्यादा Risk होता है क्यूंकि इस प्रकार के ट्रेड में जल्दी Decision लेना पढ़ता है। 

5) फॉरेक्स ट्रेडिंग (Forex Trading)

Forex Trading एक तरीका का ऐसा ट्रेडिंग है, जिसमे लोग अन्य अन्य विदेशी देशों के करेंसी के वैल्यू पर ट्रेड करते है। Forex Trading को आसान भाषा में समझे तो इस प्रकार के ट्रेडिंग में लोग दुनिया भर के मुद्राओं के कीमतों पर ट्रेड करके लाभ कमाते है। 

6) कमोडिटी ट्रेडिंग (Commodity Trading)

Commodity Trading भी कई तरह के लोग करते हैं स्टडी के बारे में बताएं तो इस तरह के ट्रेडिंग में लोग किसी कंपनी के शेयर पर ट्रेड नहीं करते है बल्कि लोग इस प्रकार के ट्रेडिंग पर सोना, चांदी, तेल जैसे वस्तुओ पर ट्रेड करके काफी अच्छा मुनाफा कमाते है, इसे ही फाइनेंस के भाषा में कमोडिटी ट्रेडिंग कहा जाता है। 

7) क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग (Cryptocurrency Trading) 

आज के समय में लोग कंपनी के शेयर में ट्रेड करने के साथ-साथ क्रिप्टो करेंसी में भी ट्रेड कर रहे हैं क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग क्या होता है इसके बारे में यदि आप नहीं जानते हैं, तो आपको बता दे की क्रिप्टोकरेंसी ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पर आधारित डिजिटल करेंसी है। इस प्रकार के ट्रेडिंग में लोग बिटकॉइन, एथरियम, डोज कॉइन जैसे क्रिप्टो करेंसी पर ट्रेड करके काफी अच्छा मुनाफा कमाते है और इन सभी डिजिटल करेंसी पर निवेश करने को ही ट्रेडिंग के भाषा में Cryptocurrency Trading कहा जाता है। 

ट्रेडिंग कैसे सीखें – Trading Kaise Sikhe 

Trading Kya Hota Hai और Trading Kitne Prakar Ke Hote Hai इसके बारे में तो आप अच्छे से जान ही गए होंगे। अब यदि आप ट्रेडिंग कैसे सीखे (Trading Kaise Sikhe) इसके बारे में जानना चाहते है तो आपको बता दे की आप ट्रेडिंग को काफी नीचे बताएं गए सभी तरीके को फॉलो करके काफी आसानी से साथ ही अच्छे से सीख सकते है –  

1) ट्रेडिंग बुक्स पढ़े – ट्रेडिंग कोई Rocket Science नहीं है, जिसे आप सीख नहीं सकते है। Trading को आप काफी आसानी से साथ ही काफी अच्छे से सीख सकते है इसके लिए आप Trading से संबंधित Books को पढ़ सकते है ऐसे कई शेयर मार्केट पर किताब उपलब्ध है जिसके माध्यम से आप शेयर मार्केट के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते है। 

2) यूट्यूब पर विडियोज देखे – YouTube पर ऐसा कोई भी कंटेंट नहीं है जो उपलब्ध नहीं होगा। YouTube ने कई लोगों के जीवन को बदल दिया है यदि आप Trading Kaise Sikhe यह YouTube पर Search करते है तो आपको ऐसे कई YouTube Videos देखने को मिल जाएंगे जिसके जरिए आप काफी आसानी से साथ ही अच्छे से ट्रेडिंग सीख सकते है और Videos के जरिए आप Trading को प्रैक्टिकली भी अच्छे से सीख सकते है। 

3) ट्रेडिंग पर कोर्स करें – ऑनलाइन ट्रेडिंग पर ऐसे कई Course है, जिसे आप कर सकते है और Course को करके अच्छे से ट्रेडिंग सीख सकते है। आपको बता दे की Online कुछ कुछ Free होता है, तो कुछ Course Paid होता है कभी भी Trading पर किसी Course को खरीदने से पहले उस Course के बारे में पहले से जानकारी प्राप्त करें की कोर्स कैसा है और उस कोर्स में क्या क्या सिखाया जाएगा। 

4) पेपर ट्रेडिंग से प्रैक्टिस करें – ट्रेडिंग के बारे में अच्छे से सभी जानकारी को प्राप्त कर लेने के बाद आप ट्रेंडिंग प्रेक्टिस करने के लिए पेपर ट्रेडिंग कर सकते हैं, पेपर ट्रेडिंग में आपको असली पैसे से ट्रेड करना नहीं पड़ता है आप इसमें बिना असली पैसे लगाए लाइव मार्केट में ट्रेड कर सकते है और आप इस तरीके से बिना असली पैसे निवेश करें प्रैक्टिस कर सकते है। 

यदि आप ट्रेडिंग कैसे सीखे इसके बारे में जानना चाहते थे तो आपको बता दे की आप ऊपर बताए गए सभी तरीके को यदि अच्छे से स्टेप बाय स्टेप फॉलो करते है तो आप काफी आसानी से ट्रेडिंग करना सीख सकते है।  

Trading Se Paise Kaise Kamaye – ट्रेडिंग से पैसे कैसे कमाए (सम्पूर्ण जानकारी) 

image

Trading Se Paise Kaise Kamaye के बारे में बताए तो आपको Trading से पैसे कमाने के तरीके के बारे में जानने से पहले DEMAT अकाउंट Open करना होगा आप किसी भी ब्रोकरेज प्लेटफॉर्म जैसे Zerodha, Groww, Upstox पर Pan Card के जरिए आसानी से Demat Account Open कर सकते है उसके बाद आप किसी भी कंपनी के शेयर में रिसर्च करके उस शेयर में निवेश करके फिर प्रॉफिट देखकर उस शेयर को अच्छे मुनाफे में बेच कर ट्रेडिंग से पैसे कमा सकते है। 

कृपया ध्यान दे – ट्रेडिंग में काफी Risk भी होता है, और ट्रेडिंग में हर वक्त प्रॉफिट नहीं भी हो सकता है इसमें Loss होने का भी काफी संभावना रहता है। कभी भी किसी शेयर में निवेश करने से पहले उस कंपनी के शेयर में अच्छे से रिसर्च जरूर करें उसके बाद ही किसी कंपनी के शेयर में निवेश करें अन्यथा नहीं। 

ट्रेडिंग के नियम (Trading Rules In Hindi) 

यदि आप शेयर मार्केट में ट्रेडिंग करने के बारे में सोच रहे हैं तो आपको ट्रेडिंग के नियमों के बारे में भी जानना काफी जरूरी है। यदि ट्रेडिंग के नियम के बारे में बताएं तो वह है –

  • ट्रेडिंग में काफी ज्यादा रिस्क भी होता है इसीलिए कभी भी बिना रिसर्च किए किसी भी स्टॉक में निवेश ना करें। 
  •  यदि आपके पास ट्रेडिंग करने के लिए पैसे नहीं है और आप ट्रेंडिंग करना चाहते हैं तो कभी भी भूलकर लोन लेकर या किसी से उधार लेकर ट्रेडिंग ना करें क्यूंकि ट्रेडिंग में आपको Loss भी देखने को मिल सकता है और यह बिल्कुल भी Safe नहीं है। 
  • कभी भी किसी कंपनी के शेयर में निवेश करने से पहले उसे कंपनी के बारे में अच्छे से जांच कर ले कि वह कंपनी क्या करता है वह कंपनी किस-किस प्रोजेक्ट पर काम कर रही है साथ ही उसे कंपनी का पोर्टफोलियो फेस वैल्यू मार्केट में क्या है। 
  • हमेशा ट्रेडिंग करते समय चार्ट का अच्छे से रिसर्च करें। 
  • जब भी आप ट्रेंडिंग करें तो स्टॉप लॉस (Stop Loss) का जरूर इस्तेमाल करें कभी भी आप Stop Loss लगाए बिना ट्रेड ना करें। 
  • हमेशा डिसिप्लिन में रहकर ट्रेड करें कभी भी ज्यादा पैसे के लालच में आकर Overtrade ना करें। 

ट्रेडिंग के फायदे और नुकसान (Advantages And Disadvantages Of Trading In Hindi) 

ट्रेडिंग करके आप बहुत ही कम समय में काफी अच्छा Profit Earn कर सकते है, Trading में कई बार आपको 50% तक का भी प्रॉफिट देखने को मिल जाता है और आप ट्रेडिंग करके काम पैसे को काफी बड़ा कर सकते है लेकिन ट्रेडिंग के कई नुकसान भी है Trading में आपको काफी Risk भी देखने को मिलता है और कई बार तो मार्केट क्रैश होने पर आपके द्वारा निवेश किया गया पैसा 0 भी हो सकता है। 

Trading Kya Hai से सम्बंधित विडियो

Trading Kya Hai से संबंधित FAQs

  1. ट्रेडिंग क्या होता है?

    किसी भी सामान या फिर सर्विस को Buy & Sell करने के तरीके को ही ट्रेडिंग कहा जाता है, इसे आसान भाषा में समझे तो मान लीजिए की आपने कोई सामान 100 रुपए में खरीदा है और उसी सामान को आपने किसी दूसरे व्यक्ति को 150 रुपए के प्रॉफिट में बेचा है उसी को ही फाइनेंस के भाषा में ट्रेडिंग कहा जाता है।

  2. ट्रेडिंग कितने प्रकार के होते है?

    ट्रेडिंग (Trading) कई प्रकार के होते है, लेकिन यदि कुछ लोकप्रिय Trading के प्रकार के बारे में आप सभी को बताएं तो वह है –
    1) इंट्राडे ट्रेडिंग (Intraday Trading)
    2) स्विंग ट्रेडिंग (Swing Trading)
    3) पोजिशनल ट्रेडिंग (Positional Trading)
    4) स्कैल्पिंग ट्रेडिंग (Scalping Trading)
    5) फॉरेक्स ट्रेडिंग (Forex Trading)
    6) कमोडिटी ट्रेडिंग (Commodity Trading)
    7) क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग (Crypto Trading)

  3. ट्रेडिंग का मतलब क्या होता है?

    किसी भी वस्तु को खरीदकर उसे मुनाफे में बेचने के तरीके को ही ट्रेडिंग कहा जाता है।

  4. शेयर मार्केट में ट्रेडिंग कैसे करें?

    यदि आप शेयर मार्केट में ट्रेडिंग करना चाहते है, तो आपको सबसे पहले किसी ब्रोकरेज प्लेटफॉर्म जैसे Groww, Zerodha या फिर Upstox पर Demat अकाउंट खोलना होगा उसके बाद आप किसी भी कंपनी के शेयर में काफी आसानी से ट्रेडिंग कर सकते है।

  5. ट्रेडिंग से पैसे कैसे कमाए?

    ट्रेडिंग से पैसे कमाने के लिए आपको किसी कंपनी के शेयर में निवेश करना होता है, उसके बाद जब उस कंपनी का शेयर प्राइस बढ़ता है तब आप उस शेयर को अच्छे कीमत में बेचकर उस शेयर से अच्छा पैसे कमा सकते है।



निष्कर्ष

उम्मीद है कि आपको हमारे इस आर्टिकल के माध्यम से आपको ट्रेडिंग क्या है, ट्रेडिंग कैसे सीखे और ट्रेडिंग से पैसे कैसे कमाये के बारे में जानकारी मिल गयी होगी| अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों और सोशल मीडिया में अवश्य शेयर करें| 

अगर आपका इस आर्टिकल से सम्बंधित कोई सुझाव या सवाल है तो आप हमें अवश्य कमेंट करें| हम आपके कमेंट का हर संभव जवाब देने की जल्द से जल्द कोशिश करेंगे|

Leave a Comment