[Multibagger Stock] Titagarh Wagons Share Price Target 2024, 2025, 2026, 2030 सम्पूर्ण जानकारी

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

आज के इस आर्टिकल में हम Titagarh Wagons Share Price Target के बारे में जानेंगे और साथ में हम जानेंगे कि इस कंपनी का आने वाला भविष्य कैसा हो सकता है और इस कंपनी में कितना रिस्क है? अगर आपको इन सब के बारे में जानकारी चाहिए तो आपको इस आर्टिकल को ध्यान से पढना होगा|

तो चलिए ज्यादा देर ना करते हुए शुरू करते है इस आर्टिकल को और जानते है Titagarh Wagons Share Price Target 2024, 2025, 2026, 2030 के बारे में सम्पूर्ण जानकारी –

टीटागढ़ वैगन्स लिमिटेड के बारे में पूरी जानकारी (Titagarh Wagons Review in Hindi)

टीटागढ़ रेल सिस्टम्स, जिसे पहले टीटागढ़ वैगन्स लिमिटेड के नाम से जाना जाता था, रेलवे कोच, वैगन, नौसैनिक जहाजों, वाणिज्यिक जहाजों और रक्षा हार्डवेयर का एक भारतीय निजी निर्माता है। 

1997 में स्थापित, कंपनी का मुख्यालय कोलकाता, पश्चिम बंगाल में है। यह बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) में लिस्टेड है।

Titagarh Wagons Share Price Target

टीटागढ़ रेल सिस्टम्स के पास प्रोडक्ट्स की एक वाइड रेंज है, जिनमें शामिल हैं –

  • रेलवे कोच और वैगन
  • नौसेना के जहाज और वाणिज्यिक जहाज
  • रक्षा हार्डवेयर, जैसे बेली ब्रिज और खनन उपकरण
  • विद्युत प्रणोदन उपकरण, जैसे ट्रैक्शन मोटर्स और वाहन नियंत्रण प्रणाली
  • रोलिंग स्टॉक कंपोनेंट्स जैसे बोगियां और व्हीलसेट
  • इंजीनियरिंग सेवाएँ, जैसे डिज़ाइन, विनिर्माण और रखरखाव

भारत और इटली में विनिर्माण सुविधाओं के साथ कंपनी की वैश्विक पहुंच है। यह 50 से अधिक देशों में अपने उत्पाद निर्यात करता है।

टीटागढ़ रेल सिस्टम्स भारतीय रेलवे का एक प्रमुख आपूर्तिकर्ता है। इसने बांग्लादेश, श्रीलंका और मैक्सिको जैसे अन्य देशों में रोलिंग स्टॉक की आपूर्ति के कॉन्ट्रैक्ट भी जीते हैं।

2015 में, टीटागढ़ रेल सिस्टम्स ने रेलवे रोलिंग स्टॉक के एक इटालियन निर्माता फायरमा स्पा का अधिग्रहण किया था। इस अधिग्रहण से कंपनी को अपनी उत्पाद श्रृंखला का विस्तार करने और नए बाजारों में प्रवेश करने में मदद मिली है।

टीटागढ़ रेल सिस्टम्स भारतीय रेलवे उद्योग में एक अग्रणी खिलाड़ी है। यह अपने ग्राहकों को सुरक्षित, विश्वसनीय और नवीन उत्पाद और सेवाएँ प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है।

यहां कंपनी की कुछ हालिया उपलब्धियां दी गई हैं –

  • 2022 में, टीटागढ़ रेल सिस्टम्स ने भारतीय रेलवे को 80 वंदे भारत ट्रेनों की आपूर्ति के लिए ₹9,600 करोड़ का कॉन्ट्रैक्ट जीता था|
  • 2021 में कंपनी का रेवेन्यु 25% बढ़कर ₹5,500 करोड़ हो गया था।
  • 2020 में, टीटागढ़ रेल सिस्टम्स ने 50 से अधिक देशों को ₹1,000 करोड़ मूल्य का रोलिंग स्टॉक निर्यात किया था।
  • कंपनी में 4,500 से अधिक कर्मचारी काम करते है|

Titagarh Wagons के वितीय आंकड़े निम्न प्रकार से है –

मुख्य बिंदुविवरण
मार्केट कैप₹13,958 करोड़
02 जनवरी 2024 के अनुसार शेयर प्राइस₹1,014
52 वीक हाई लेवल प्राइस₹1091
52 वीक लो लेवल प्राइस₹193
स्टॉक P/E रेश्यो65.8
डिविडेंड यील्ड0.05%
ROCE (Return on Capital Employed)17.6%
ROE (Return on Equity)13.9%

इस कम्पनी का शेयर होल्डिंग पैटर्न निम्न प्रकार से है –

शेयर होल्डर्सकुल शेयर (%में)
प्रमोटर्स47.82
विदेशी संस्थागत निवेशक (FII’s) 6.07
घरेलु संस्थागत निवेशक (DII’s) 6.61
भारतीय सरकार0.01
पब्लिक39.48

अब हम Titagarh Wagons Share Price Target के बारे में विस्तार से जानते है –

2024 में Titagarh Wagons का शेयर प्राइस टारगेट (Titagarh Wagons Share Price Target 2024 in Hindi)

टीटागढ़ रेल सिस्टम को हाल ही में रेलवे से 875 करोड़ रुपये का एक आर्डर मिला है। इस आर्डर के लिए रेलवे वैगन कंपनी, टिटागढ़ रेल सिस्टम्स, बीएचईएल (BHEL) और आरकेएफएल (RKF) से दो अलग-अलग कॉन्ट्रैक्ट साइन किए हैं। 

See also  Cyient DLM Share Price Target 2023, 2024, 2025, 2030 सम्पूर्ण जानकारी

भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (BHEL) और टीटागढ़ वैगंस लिमिटेड ने 80 वंदे भारत स्लीपर ट्रेनों के निर्माण के लिए समझौता किया है। इस कंपनी को अगले 35 साल तक इन वंदे भारत ट्रेनों का रखरखाव भी करना होगा। 

यह पहली बार हुआ है जब भारतीय रेलवे ने एक भारतीय कंपनी को इतनी बड़ी राशि के कॉन्ट्रैक्ट की पेशकश की है। भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (BHEL) और टीटागढ़ वैगन कंपनी एक संयुक्त उपक्रम हैं, जो वंदे भारत ट्रेनों के डिजाइन और विनिर्माण का कार्य करेगा। इस कॉन्ट्रैक्ट की वैल्यू 24,000 करोड़ रुपये तक हो सकती है।

टीटागढ़ रेल सिस्टम्स ने यह टारगेट रखा है कि वह अगले तीन सालों में 600 करोड़ रुपये का इन्वेस्टमेंट करेगी और इसके लिए हाल ही में वे एक बड़े निवेशक को अपने शेयर बेचकर 289 करोड़ रुपये इकट्ठा करने का प्रस्ताव रखा है।

इन सब कारणों को देखते हुए अगर हम Titagarh Wagons Share Price Target 2024 की बात करें तो इस कंपनी का पहला शेयर प्राइस टारगेट 1030 और दूसरा शेयर प्राइस टारगेट 1120 रूपये हो सकता है|

2025 में Titagarh Wagons का शेयर प्राइस टारगेट (Titagarh Wagons Share Price Target 2025 in Hindi)

2025 में Titagarh Wagons Share Price Target 1180 रूपये से 1250 रूपये के बीच में रहने की उम्मीद है| कम्पनी मैनेजमेंट ने अपने व्यापार को बढ़ावा देने के लिए पिछले दो सालों में 100 करोड़ रुपए का निवेश किया है। इससे आने वाले समय में कम्पनी की विनिर्माण क्षमता में सुधार होने की संभावना है।

टिटागढ़ वैगन्स प्रा॰ लि॰ कंपनी रेलवे के साथ जहाजों और युद्ध पोतों का निर्माण भी करती है। लेकिन वर्तमान में कंपनी को इस सेगमेंट से केवल 3% की आय मिलती है।

यह काफी कम माना जा सकता है, लेकिन भविष्य में कंपनी मैनेजमेंट रेलवे के साथ इस सेगमेंट में भी मेहनत करने का प्रयास करेगी। इससे कंपनी की बिक्री में ग्रोथ को बढ़ाने में मदद मिलेगी।

कम्पनी मैनेजमेंट का प्रमुख ध्यान मेट्रो ट्रेन आर्डर पर है, क्योंकि भारत में आने वाले समय में मेट्रो ट्रेन के निर्माण में बहुत तेजी से वृद्धि होने की संभावना है। अगर कम्पनी अपने इस उद्देश्य में सफल होती है, तो कम्पनी की बिक्री में वृद्धि देखने की संभावना है। वास्तव में, कम्पनी के पास वर्तमान में देश और विदेश में कुल मिलाकर 12,000 करोड़ रुपए के आर्डर बुक हैं।

ऐसे में अगर हम Titagarh Wagons Share Price Target 2025 की बात करें तो इसका पहला शेयर प्राइस टारगेट 1180 रूपये और दूसरा शेयर प्राइस टारगेट 1250 रूपये पर जा सकता है|

2026 में Titagarh Wagons का शेयर प्राइस टारगेट (Titagarh Wagons Share Price Target 2026 in Hindi)

Titagarh Wagons अपने बिज़नेस को लेकर कई फ्यूचर प्लान बना रही है जिसमें से कुछ फ्यूचर प्लान्स निम्नलिखित है –

  1. वैगन निर्माण क्षमता में वृद्धि: 30% से अधिक बाजार हिस्सेदारी के साथ टीआरएसएल भारत में सबसे बड़ा वैगन निर्माता है। कंपनी की मौजूदा वैगन निर्माण क्षमता 8,400 यूनिट प्रति वर्ष है। क्षमता में नियोजित वृद्धि से टीआरएसएल को भारतीय रेलवे और अन्य ग्राहकों की वैगनों की बढ़ती मांग को पूरा करने में मदद मिलेगी।
  2. जाली पहिये परियोजना: जाली पहिये पारंपरिक ढले पहियों की तुलना में अधिक मजबूत और टिकाऊ होते हैं। वे हल्के भी होते हैं, जिससे ईंधन की बचत हो सकती है। जाली पहियों परियोजना में भारत में एक पहिया परीक्षण केंद्र और एक विनिर्माण सुविधा स्थापित करना शामिल होगा। यह टीआरएसएल को भारतीय बाजार में फोर्ज्ड व्हील्स की बढ़ती मांग को पूरा करने में सक्षम बनाएगा।
  3. यात्री ट्रेनों के लिए प्रणोदन प्रणाली: टीआरएसएल यात्री ट्रेनों के लिए अपनी स्वयं की प्रणोदन प्रणाली विकसित कर रहा है। ये प्रणालियाँ पारंपरिक प्रणोदन प्रणालियों की तुलना में अधिक कुशल और पर्यावरण के अनुकूल होंगी। टीआरएसएल इस बाजार में सफल होने के लिए अच्छी स्थिति में है, क्योंकि इसके पास रेल प्रौद्योगिकी में नवाचार का एक मजबूत ट्रैक रिकॉर्ड है।
  4. अंतर्राष्ट्रीय विस्तार: टीआरएसएल पहले से ही संयुक्त राज्य अमेरिका, यूरोप और मध्य पूर्व सहित कई देशों में अपने उत्पादों का निर्यात करता है। कंपनी की योजना आने वाले वर्षों में अपने वैश्विक पदचिह्न को और विस्तारित करने की है। टीआरएसएल अंतरराष्ट्रीय बाजारों में महत्वपूर्ण विकास की संभावनाएं देखता है, क्योंकि दुनिया भर में रेल बुनियादी ढांचे की मांग बढ़ रही है।
See also  Mankind Pharma Share Price Target 2023, 2024, 2025, 2030 सम्पूर्ण जानकारी

ऐसे में अगर हम Titagarh Wagons Share Price Target 2026 के बारे में बात करें तो इस कंपनी का 2026 में पहला शेयर प्राइस टारगेट 1310 और दूसरा शेयर प्राइस टारगेट 1420 रूपये हो सकता है|

2027 में Titagarh Wagons का शेयर प्राइस टारगेट (Titagarh Wagons Share Price Target 2027 in Hindi)

Titagarh Wagons के बहुत से ऐसे प्रोजेक्ट है जो अभी निर्माणाधीन चल रहे है| अगर कम्पनी के ये प्रोजेक्ट समय पर पूरे हो जाते है तो कम्पनी के बिज़नेस में तगड़ी ग्रोथ हो सकती है| कम्पनी के कुछ मुख्य प्रोजेक्ट्स निम्नलिखित है –

  1. सूरत मेट्रो रेल परियोजना के लिए 24 मेट्रो ट्रेन सेट की आपूर्ति: टीआरएस को सूरत मेट्रो रेल परियोजना के लिए 24 मेट्रो ट्रेन सेट (72 कार) की आपूर्ति के लिए ₹857 करोड़ का ठेका दिया गया है। ट्रेनों का निर्माण कोलकाता में टीआरएस के संयंत्र में किया जाएगा और दिसंबर 2024 तक डिलीवरी होने वाली है।
  2. 80 वंदे भारत ट्रेनों का निर्माण: टीआरएस ने भारतीय रेलवे के लिए 80 वंदे भारत ट्रेनों के निर्माण के लिए भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (बीएचईएल) के साथ साझेदारी की है। ट्रेनों का निर्माण पश्चिम बंगाल के सिंगुर में टीआरएस के संयंत्र में किया जाएगा और 2029 तक वितरित किए जाने का कार्यक्रम है।
  3. पहिया विनिर्माण संयंत्र की स्थापना: टीआरएस ने पश्चिम बंगाल में पहिया विनिर्माण संयंत्र स्थापित करने के लिए रामकृष्ण फोर्जिंग्स के साथ साझेदारी की है। संयंत्र की क्षमता प्रति वर्ष 200,000 पहियों के निर्माण की होगी और इसे 2025 तक चालू करने की योजना है। पहियों की आपूर्ति भारतीय रेलवे और भारत और विदेशों में अन्य रेलवे कंपनियों को की जाएगी।

इसके अलावा Titagarh Wagons की बैलेंस शीट भी हेल्दी दिखाई दे रही है| Titagarh Wagons ने अपनी बैलेंस शीट को अच्छी तरह से मैनेज किया हुआ है| Titagarh Wagons की बैलेंस शीट को आप नीचे दी गयी इमेज के माध्यम से देख सकते है –

Titagarh Wagons Share Price Target

इन सब कारणों को देखते हुए अगर हम Titagarh Wagons Share Price Target 2027 की बात करें तो इस कंपनी का पहला शेयर प्राइस टारगेट 1490 रूपये और दूसरा शेयर प्राइस टारगेट 1550 रूपये हो सकता है|

2030 में Titagarh Wagons का शेयर प्राइस टारगेट (Titagarh Wagons Share Price Target 2030 in Hindi)

कम्पनी की सेल और नेट प्रॉफिट में लगातार वृद्धि हो रही है| अगर हम कम्पनी की सेल को ध्यान से देखें तो इस में साल दर साल ग्रोथ हो रही है| मार्च 2021 को इस कम्पनी की टोटल सेल 1,521 करोड़ रूपये थी जो मार्च 2022 में बढ़कर 1,931 करोड़ रूपये हो गयी थी| वहीं अब मार्च 2023 में इस की टोटल  2,780 करोड़ रूपये है|

कम्पनी के नेट प्रॉफिट में भी अच्छी ग्रोथ हो रही है| मार्च 2021 में कम्पनी का टोटल लॉस 19 करोड़ रूपये था जो मार्च 2022 में घटकर 1 करोड़ रूपये हो गया था| वहीं अब मार्च 2023 में इस कम्पनी का टोटल नेट प्रॉफिट 126 करोड़ रूपये हो गया है|

अधिक जानकारी के लिए आप नीचे दी गयी इमेज में कम्पनी का प्रॉफिट & लॉस अकाउंट देख सकते है –

Titagarh Wagons Share Price Target

 ऐसे में अगर हम Titagarh Wagons Share Price Target 2030 की बात करें तो इस कंपनी का पहला शेयर प्राइस टारगेट 3200 और दूसरा शेयर प्राइस टारगेट 3500 रूपये हो सकता है|

Titagarh Wagons Share Price Target 2024, 2025, 2025, 2030 in Table

वर्षपहला शेयर प्राइस टारगेटदूसरा शेयर प्राइस टारगेट
202410301120
202511801250
202613101420
202714901550
203032003500

Titagarh Wagons शेयर का भविष्य (Future of Titagarh Wagons Share)

टीटागढ़ वैगन्स लिमिटेड (TWL) रेल और मेट्रो वैगनों का एक भारतीय निर्माता है। कंपनी के पास विकास और लाभप्रदता का एक मजबूत ट्रैक रिकॉर्ड है, और भारत में रेल परिवहन की बढ़ती मांग से लाभ उठाने के लिए अच्छी स्थिति में है।

See also  IDFC First Bank Share Price Target 2025 | जानिए 2025 में आईडीएफसी फर्स्ट बैंक का शेयर प्राइस टारगेट

यहां कुछ कारक दिए गए हैं जो टीटागढ़ वैगन्स के शेयर मूल्य के सकारात्मक भविष्य में योगदान कर सकते हैं –

  1. रेल परिवहन की बढ़ती मांग: भारत दुनिया के सबसे बड़े रेल नेटवर्कों में से एक है, और सरकार नेटवर्क के विस्तार और आधुनिकीकरण में भारी निवेश कर रही है। इससे रेल वैगनों की मांग बढ़ने की उम्मीद है और टीटागढ़ वैगन्स इस वृद्धि का लाभ उठाने के लिए अच्छी स्थिति में है।
  2. मजबूत ऑर्डर बुक: टीटागढ़ वैगन्स के पास एक मजबूत ऑर्डर बुक है, जो भविष्य के राजस्व और कमाई की दृश्यता प्रदान करती है। कंपनी ने पिछले कुछ वर्षों में ₹10,000 करोड़ (US$1.3 बिलियन) से अधिक के ऑर्डर हासिल किए हैं और उम्मीद है कि आने वाली तिमाहियों में भी उसे नए ऑर्डर मिलते रहेंगे।
  3. क्षमता विस्तार: टीटागढ़ वैगन्स वर्तमान में अपने उत्पादों की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए अपनी विनिर्माण क्षमता का विस्तार कर रही है। कंपनी नई विनिर्माण सुविधाओं में ₹2,000 करोड़ (US$260 मिलियन) का निवेश कर रही है, जिसके 2024 तक पूरा होने की उम्मीद है।
  4. निर्यात: टीटागढ़ वैगन्स अपने निर्यात कारोबार का भी विस्तार कर रही है। कंपनी पहले ही बांग्लादेश, श्रीलंका और मैक्सिको जैसे देशों में वैगन निर्यात कर चुकी है और आने वाले वर्षों में नए बाजारों को लक्षित कर रही है।

कुल मिलाकर, टीटागढ़ वैगन्स एक मजबूत विकास प्रोफ़ाइल वाली एक अच्छी तरह से प्रबंधित कंपनी है। कंपनी भारत में रेल परिवहन की बढ़ती मांग से लाभ उठाने के लिए अच्छी स्थिति में है, और इसकी मजबूत ऑर्डर बुक और क्षमता विस्तार योजनाओं से पता चलता है कि आने वाले वर्षों में इसमें वृद्धि जारी रहेगी।

Titagarh Wagons शेयर में रिस्क (Risk in Titagarh Wagons Share)

टीटागढ़ वैगन्स लिमिटेड (TWL) भारत में वैगनों का एक अग्रणी निर्माता है। कंपनी के पास विकास और लाभप्रदता का एक मजबूत ट्रैक रिकॉर्ड है, लेकिन इसके शेयरों में निवेश करने से पहले कुछ जोखिमों पर विचार करना होगा।

एक जोखिम यह है कि अगर भारतीय अर्थव्यवस्था में मंदी आती है या वैगनों की मांग में गिरावट आती है तो कंपनी की वृद्धि धीमी हो सकती है। कंपनी का राजस्व और मुनाफा भारतीय अर्थव्यवस्था के प्रदर्शन से अत्यधिक संबंधित है, इसलिए आर्थिक विकास में मंदी का TWL के व्यवसाय पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ सकता है।

दूसरा जोखिम यह है कि कंपनी को विदेशी खिलाड़ियों से बढ़ती प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ रहा है। हाल के वर्षों में भारतीय वैगन बाजार में विदेशी कंपनियों के प्रवेश का चलन बढ़ा है। इन कंपनियों को पैमाने की अर्थव्यवस्था और उन्नत प्रौद्योगिकी तक पहुंच का लाभ मिलता है, जो टीडब्ल्यूएल के मार्जिन पर दबाव डाल सकता है।

अंत में, कंपनी के शेयर अपेक्षाकृत महंगे हैं, 2 जुलाई, 2023 तक पीई अनुपात 41.54 है। इसका मतलब है कि निवेशक प्रत्येक रुपये की कमाई के लिए उच्च कीमत चुका रहे हैं। यदि कंपनी की आय वृद्धि धीमी होती है, तो शेयर की कीमत में गिरावट आ सकती है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न 

  1. Titagarh Wagons कंपनी किस सेक्टर में काम करती है?

    टीटागढ़ रेल सिस्टम्स, जिसे पहले टीटागढ़ वैगन्स लिमिटेड के नाम से जाना जाता था, रेलवे कोच, वैगन, नौसैनिक जहाजों, वाणिज्यिक जहाजों और रक्षा हार्डवेयर का एक भारतीय निजी निर्माता है।

  2. Titagarh Wagons के सीईओ का क्या नाम है?

    Titagarh Wagons के सीईओ श्री साकेत कंदोई है|

  3. Titagarh Wagons पर कर्ज कितना है?

    Titagarh Wagons पर कुल ₹249.32 का कर्ज है जिसे कंपनी कम करने का प्रयास कर रही है|

  4. Titagarh Wagons का भविष्य कैसा है?

    रेल बुनियादी ढांचे पर सरकारी खर्च और नवाचार पर कंपनी के फोकस के कारण टीटागढ़ रेल सिस्टम आने वाले वर्षों में विकास के लिए तैयार है।

  5. 2030 में Titagarh Wagons Share Price Target क्या होगा?

    2030 में Titagarh Wagons का शेयर 3200 रूपये या 3500 रूपये के टारगेट प्राइस को टच कर सकता है|



निष्कर्ष 

उम्मीद है कि आपको हमारी यह पोस्ट Titagarh Wagons Share Price Target 2024, 2025, 2026, 2030 अवश्य पसंद आयी होगी| अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों और सोशल मीडिया में अवश्य शेयर करें|

अगर आपको इस पोस्ट सम्बंधित कोई प्रश्न या सुझाव है तो आप हमें कमेंट कर सकते है| हम आपके कमेंट का जवाब देने की हर सम्भव कोशिश करेंगे|

Leave a Comment