राजस्थान में ई-मित्र का बिज़नेस कैसे शुरू करें 2024 (Rajasthan Emitra full details in hindi)

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका इस पोस्ट में, जिसका नाम है – राजस्थान में ई-मित्र का बिज़नेस कैसे शुरू करें (Rajasthan Emitra full details in hindi). दोस्तों अगर आप राजस्थान से है तो आप किसी ना किसी सरकारी काम के लिए ई-मित्र पर तो गये होंगे. और वहां पर आपने कोई ना काम करवाया होगा.

ऐसे में अगर आप कोई ना कोई बिज़नेस करना चाहते है तो ई-मित्र आपके लिए बेस्ट विकल्प है. ई-मित्र का बिज़नेस करके आप महीने के अच्छे खासे रूपये कमा सकते है. ई-मित्र का बिज़नेस करके आप सरकार के योजनाओं के बारे में जानने लगते है और उन योजनाओं के बारे में आप स्थानीय लोगो को बता सकते है.

तो आइये आज के इस आर्टिकल में हम विस्तार से जानते है कि ई-मित्र क्या है, ई-मित्र खोलने के लिए क्या-क्या चाहिए, ई-मित्र आवेदन प्रक्रिया, ईमित्र लेने के लिए योग्यता, ई-मित्र लेने के लिए आवश्यक दस्तावेज आदि. अगर आप इस के बारे में विस्तार से जानना चाहते है तो इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़े.

ई-मित्र क्या है (Rajasthan Emitra full details in hindi)

ई-मित्र का पूरा नाम है इन्टरनेट मित्र. ई मित्र एक सरकारी पोर्टल है जहां पर आप राज्य सरकार और केंद्र सरकार की योजनाओं के बारे में जान सकते है और उनसे जुड़े सारे सरकारी काम करवा सकते है. जो व्यक्ति ये ई-मित्र चलाता है उसे ई-मित्र संचालक कहा जाता है.
ई-मित्र की सेवा सिर्फ राजस्थान में ही उपलब्ध है. यानि ई-मित्र का बिज़नेस सिर्फ राजस्थान का व्यक्ति ही कर सकता है. 2004 में राजस्थान सरकार द्वारा ई-मित्र की शुरुआत की गयी थी. शुरुआत में यह योजना बहुत सुस्त थी. परन्तु धीरे धीरे यह बहुत ज्यादा रफ़्तार पकड़ने लगा.
ई-मित्र एक ऐसा प्लेटफोर्म है जहां पर आपको एक ही छत के नीचे बहुत सी विभागों की सरकारी सेवाएँ ऑनलाइन मिल जाती है. ई-मित्र में आपको 300 से ज्यादा सेवाएं मिलती है जो आपको ग्राहकों को प्रदान कर सकते है. ई-मित्र से आप कई प्रकार की कार्य कर सकते है जिसके बारे में हम आपको आगे बताने वाले है.

Rajasthan Emitra full details in hind

ई-मित्र के कार्य

जैसा कि हमने पहले ही बताया था कि ई-मित्र प्लेटफोर्म के जरिये आप अपने ग्राहकों को 300 से ज्यादा सेवाएं प्रदान कर सकते है. इसमें आप अनेक प्रकार के कार्य कर सकते है जो कि निम्नलिखित है-

  • ई-मित्र के द्वारा आप सभी तरह के बिल भर सकते है.
  • अगर आपको अपने दस्तावेज की फोटोकॉपी निकलवानी हो या दस्तावेज स्कैन करवाने हो तो ई-मित्र के जरिये आप ये काम कर सकते है.
  • ई-मित्र के जरिये आप अपने सभी document बनवा सकते है और उसे लिंक भी करवा सकते है.
  • ई-मित्र के जरिये आप अपना जाति प्रमाण पत्र, मूलनिवास और आय प्रमाण पत्र बनवा सकते है.
  • आप इसके द्वारा राशन कार्ड और पहचान पत्र भी बनवा सकते है और उसमे बदलाव भी करवा सकते है.
  • इसके अलावा आप सरकारी नौकरी से जुड़े फॉर्म फिल करवा सकते है.
  • आधार कार्ड और जन आधार कार्ड बनवा सकते है.
  • ऋण प्राप्त करने के लिए ई-मित्र के माध्यम से आवेदन किया जाता है.
  • राजस्थान सरकार और केंद्र सरकार की योजना से जुड़ा कोई आवेदन कर सकते है.
  • कॉलेज और यूनिवर्सिटी में प्रवेश लेने के लिए फॉर्म भरवा सकते है.
  • पेंशन के लिए आवेदन कर सकते है.
  • बैंक खाता खुलवा सकते है और बैंक से पैसे की निकासी भी करवा सकते है.
  • आरटीओ की सभी सेवायों के लिए आवेदन कर सकते है.
  • पैन कार्ड के लिए आवेदन कर सकते है.
  • पुलिस विभाग की सेवाएँ भी ई-मित्र के माध्यम से प्राप्त कर सकते है.
See also  Best Unique Business Ideas in Hindi | अधिक कमाई वाले यूनिक बिज़नेस आइडियाज

इसके अलावा भी बहुत सी सेवाएँ है जो ई-मित्र के माध्यम से दी जाती है. ई-मित्र की सभी सेवायों की जानकारी के लिए आप इस लिंक पर क्लिक कर सकते है.

ई-मित्र का बिज़नेस करने के लिए आवश्यक योग्यता

अगर आप ई-मित्र का बिज़नेस करना चाहते है तो आपके पास राजस्थान के निर्देशानुसार आपके पास निम्नलिखित योग्यता होनी चाहिए तभी आप इसके लिए आवेदन कर सकते है-

  • अगर आप राजस्थान के निवासी है तो ही आप ई-मित्र के लिए आवेदन कर सकते है.
  • कम से कम 10वीं क्लास पास होनी चाहिए.
  • कंप्यूटर चलाना आना चाहिए. ई-मित्र लेने के लिए आप को कंप्यूटर चलाने के साथ साथ ऑनलाइन काम करने का भी थोडा ज्ञान होना चाहिए.
  • आपको हिंदी और अंग्रेजी भाषा का ज्ञान होना चाहिए. क्योंकि ई-मित्र में कुछ सेवाएँ हिंदी में होती है और कुछ सेवाएँ अंग्रेजी में होती है.
  • आपकी टाइपिंग स्पीड अच्छी होनी चाहिए ताकि आप ग्राहकों के काम को जल्दी से जल्दी कर सके.
  • आपको सरकार की सभी योजनाओं के बारे में जानकारी होनी चाहिए. अगर आपको जानकारी होगी तो ही आप अपने स्थानीय ग्राहकों को उन योजनाओं के बारे में बता सकेंगे.

ई-मित्र का बिज़नेस करने के लिए आवश्यक दस्तावेज

ई-मित्र का बिज़नेस एक ऐसा बिज़नेस है जिसमे आपको सरकार की योजनाओं से जुड़े कार्य करना पड़ता है. तो इसके लिए आपको कई दस्तावेज की आवश्यकता होगी जो निम्नलिखित है-

  • आधार कार्ड, जन आधार कार्ड और पैन कार्ड होना चाहिए.
  • आपके आधार कार्ड आपके मोबाइल नंबर के साथ लिंक होना चाहिए.
  • आपके पास बैंक खाता होना चाहिए जो कि नेट बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग से जुड़ा हो.
  • दसवीं की मार्कशीट होनी चाहिए.
  • पहचान पत्र होना चाहिए.
  • एक चरित्र प्रमाण पत्र होना चाहिए जो कि पुलिस विभाग से जारी होता है.
  • ई-मित्र के आवेदन के लिए आपके पास मूलनिवास भी होना चाहिए.
  • उसके अलावा आपकी दूकान से जुड़ा कोई दस्तावेज होना चाहिए जैसे बिजली बिल.
See also  Best Business Idea: ये है नए जमाने का सुपरहिट बिज़नेस, होगी लाखों रूपये की कमाई

ई-मित्र के बिज़नेस के लिए आवश्यक चीजें

ई-मित्र के बिज़नेस करने के लिए आपको कई चीजों की आवश्यकता होगी जो कि निम्नलिखित है –

  • आपके पास एक दुकान होनी चाहिए जिसमे आप अपना ई-मित्र का बिज़नेस शुरू कर सके.
  • आपके पास एक कंप्यूटर/लैपटॉप होना चाहिए.
  • आपके पास एक अच्छा इन्टरनेट कनेक्शन होना चाहिए.
  • उसके अलावा आपके प्रिंटर होना चाहिए. आपके पास ब्लैक & वाइट और कलर प्रिंटर दोनों होना चाहिए.
  • आपके पास document स्कैनर भी होना चाहिए. परन्तु आजकल आल इन वन प्रिंटर आते है जिसमे आपको स्कैनर की सुविधा मिल जाती है.
  • आपके पास लेमिनेशन मशीन होनी चाहिए.
  • आपके पास एक फिंगरप्रिंट स्कैनर होना चाहिए.
  • इसके अलावा आपकी दुकान में ग्राहकों के बैठने की व्यवस्था होनी चाहिए जिसके लिए आपको टेबल और चेयर भी लेनी होगी.
  • आपके पास स्टेपलर और पंचिंग मशीन होनी चाहिए.
  • इसके अलावा आपके पास स्टेशनरी से सम्बंधित सामान होना चाहिए जैसे – A4 पेपर, फोटो पेपर, पेन, इंक आदि.

ई-मित्र के बिज़नेस के लिए लोकेशन

ई-मित्र के बिज़नेस के लिए आपको ऐसी लोकेशन चुननी चाहिए जहां पर ज्यादा से ज्यादा सरकारी ऑफिस हो. इसके अलावा आप अपना ई-मित्र किसी कॉलेज और स्कूल के नजदीक भी खोल सकते है. अगर आप ई-मित्र ऐसी जगह पर खोलते है जहां पर मुख्य बाजार हो और सरकारी दफ्तर हो तो आपका बिज़नेस बहुत अच्छी तरह से चलेगा.

आप अपना ई-मित्र शहर और गाँव दोनों जगह खोल सकते है. आजकल सरकारी विभाग जैसे ग्राम पंचायत भवन, तहसील भवन, नगरपालिका भवन, पंचायत समिति भवन, बिजली विभाग आदि पर भी ई-मित्र शुरू कर सकते है. इसके लिए आपको अपने स्थानीय विभाग से मंजूरी लेनी होगी.

ई-मित्र बिज़नेस में आने वाली लागत

अगर आप खुद का ई-मित्र शुरू करते है तो आपको दुकान भी लेनी होती है जो कि आप किराये पर भी ले सकते है और खुद की ले सकते है. अगर आप खुद की दुकान लेते है तो आपको 2 से 5 लाख रूपये खर्च करने पड़ेंगे. और अगर आप दुकान किराये पर लेते है तो आपको 5 से 10000 रूपये महीने का किराया देना होगा.

उसके अलावा आपको ई-मित्र के लिए जरुरी उपकरण लेने होंगे जिसकी लागत 50000 से 1 लाख रूपये तक होती है. और अगर आप ये सेकंड हैण्ड लेते है तो आप 50000 रूपये में आराम से ले सकते है. इसके लिए आपको ई-मित्र आईडी लेनी होगी.

पहले ई-मित्र आईडी लेने के लिए आपको 5 से 10000 रूपये खर्च करने पड़ते है परन्तु आज के समय में आप 500 से 2000 रूपये में ई-मित्र आईडी ले सकते है.

ई-मित्र लेने के लिए आवेदन प्रक्रिया

ई-मित्र का बिज़नेस करने के लिए आपको ई-मित्र का आवेदन करना पड़ता है. ई-मित्र लेने के लिए आपको एलएसपी(LSP) से संपर्क करना पड़ता है.

LSP की full फॉर्म होती है लोकल सर्विस प्रोवाइडर (Local Service Provider). आपको यह मालूम करना होगा कि आपके जिले में कितने एलएसपी है जो ई-मित्र की आईडी प्रदान कर रहे है? और जो एलएसपी आपको अच्छे लगे आप उनके माध्यम से आवेदन कर सकते है. सभी एलएसपी की जानकारी के लिए आप इस लिंक पर क्लिक कर सकते है.

See also  रतन टाटा की इस कंपनी के साथ मिलकर शुरू करें ये बिज़नेस, हर महीने होगी शानदार कमाई

उसके बाद आपको अपने एलएसपी से संपर्क करना होगा. उसके बाद वो आपको एक मेल आईडी और document लिस्ट देगा. आपको वो सभी document मेल के द्वारा उनकी मेल आईडी पर भेजना होगा. उसके बाद एलएसपी आपके सभी दस्तावेज सत्यापित करेगा. उसके बाद आपको अपनी ई-मित्र आईडी के लिए पेमेंट करनी होगी. उसके बाद आपके ई-मित्र आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी और कुछ दिनों में आपको ई-मित्र मिल जायेगा.

आपको ई-मित्र पर काम करने के बारे में ट्रेनिंग भी दी जाएगी. इस तरह से आप अपनी एलएसपी के माध्यम से ई-मित्र के लिए आवेदन कर सकते है. हम आपको यहाँ पर कुछ प्रसिद्ध एलएसपी के बारे में बता रहे है जिनसे आप संपर्क करके ईमित्र के लिए आवेदन कर सकते है-

LSP NAMELink
आचार्य टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेडक्लिक करे
अक्ष ऑप्टिफाइबरक्लिक करे
डोगमा सॉफ्ट लिमिटेडक्लिक करे
इग्रोन इंडियाटेक प्राइवेट लिमिटेडक्लिक करे
फिनो पेटेक लिमिटेडक्लिक करे
हैप्पी 2 हेल्प यु टेक्नोलॉजीक्लिक करे
SVG एक्सप्रेस सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेडक्लिक करे

ये कुछ बेस्ट एलएसपी है जिनके माध्यम से आप ई-मित्र के लिए आवेदन कर सकते है.

ई-मित्र के बिज़नेस से होने वाली कमाई

ई-मित्र के बिज़नेस एक ऐसा बिज़नेस है जो हमेशा चलता रहता है. क्योंकि सरकार समय समय पर नयी नयी योजनाये लाती रहती है. इसके अलावा बहुत सी सरकारी भर्ती आती रहती है जिसके फॉर्म आप अपने ई-मित्र के माध्यम से भर सकते है. ई-मित्र पोर्टल में आप जो भी ट्रांजेक्शन करते है उसका आपको एक निश्चित कमीशन मिलता है.

इसके अलावा आप इस से महीने के 30000 रूपये से 40000 रूपये शुरुआत से ही कमा सकते है. और अगर आप ज्यादा मेहनत करते है और ई-मित्र में जितनी भी सेवाएँ है वो सेवाएँ आप अपने ग्राहकों को प्रदान करते है तो आप इस से ज्यादा भी पैसे कमा सकते है.

ई-मित्र के बिज़नेस से जुड़े कुछ प्रश्न (FAQ)

  1. ई-मित्र की full फॉर्म क्या है?

    ई-मित्र की full फॉर्म इन्टरनेट मित्र है.

  2. ई-मित्र खोलने के लिए क्या-क्या चाहिए?

    ई-मित्र खोलने के लिए आपके पास कंप्यूटर, इन्टरनेट कनेक्शन, प्रिंटर और अन्य चीजें भी चाहिए जिसके बारे में पुरी जानकारी इस आर्टिकल में दी गयी है.

  3. ई-मित्र का कस्टमर केयर नंबर और ई-मेल आईडी क्या है?

    कस्टमर केयर नंबर – 1800 180 6127/181.
    ई-मेल आईडी – [email protected]/[email protected]/[email protected]

यह भी देखें-

आधार कार्ड सेण्टर का बिज़नेस कैसे शुरू करे

बैंक मित्र बनकर कैसे पैसे कमाये

कॉमन सर्विस सेण्टर कैसे शुरू करे

निष्कर्ष

आज की इस पोस्ट में हमने यह जाना कि राजस्थान में ई-मित्र का बिज़नेस कैसे शुरू करें 2023 (Rajasthan Emitra full details in hindi). ई-मित्र का बिज़नेस करके आप राज्य सरकार और केंद्र सरकार की योजनाओ की जानकारी अपने ग्राहकों को दे सकते है. ई-मित्र का बिज़नेस करके आप अच्छी खासी कमाई कर सकते है.

अगर आपको इस से सम्बंधित कोई सुझाव या शिकायत है तो आप हमें कमेंट अवश्य करे. आपका कमेंट हमें ऐसी ही पोस्ट लाने के लिए प्रोत्साहित करता है. और ऐसी ही जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग पर बार बार विजिट करते रहें.

Leave a Comment